लगातार बारिश से खरीफ उत्पादन कम होने की आशंका

Share On :

possibility-of-decreasing-kharif-production-due-to-continuous-rains

(राजीव कुशवाह, नागझिरी)। खरगोन जिले के इस अंचल में लगातार बारिश होने से खरीफ उत्पादन कम होने की आशंका जताई जा रही है। सोयाबीन में अफलन के साथ सब्जियों में सडऩ रोग लग गया है। 

निरंतर वर्षा से फसलों पर रसायनिक खाद और दवाइयों का छिड़काव भी बेअसर साबित हो रहा है। लेकिन पर्याप्त वर्षा होने से रबी की फसल अच्छी होने की उम्मीद है।

क्षेत्र के किसान श्री गोरेलाल, श्री लक्ष्मण जमरे, छगन अवासे ने बताया कि उनके द्वारा बोई गई कपास, मक्का, मिर्च और सब्जियों खासतौर से बैंगन में सडऩ रोग लगने से फसल नष्ट होने की कगार पर पहुँच गई है। जबकि श्री गणेश यादव, श्री संजय चौधरी,श्री भीमाजी सेप्टा और सुभाष कुशवाह ने कहा कि ज्यादा बारिश होने से सब्जियों का उत्पादन घटने से सब्जियों के दाम में उछाल आ गया है। बता दें कि जिले में 6 वर्ष बाद नदी -नालों के उफान आने से अब तक  औसत वर्षा 27.5  इंच तक पहुंची है। इससे रबी में अच्छा उत्पादन होने की उम्मीद  है। आत्मा परियोजना के अधिकारियों ने किसानों को लगातार रासायनिक दवाइयों का छिड़काव कर फसल को सुरक्षित रखने की सलाह दी है।  फसलों की स्थिति पर उप संचालक कृषि श्री एम.एल. चौहान का कहना है कि विभाग के अधिकारी फसलों का सतत निरीक्षण कर रहे हैं। कुछ क्षेत्रों में कपास, मिर्च और सब्जियों को अधिक नुकसान हुआ है। इसके बचाव के लिए किसानों को सामयिक सलाह दी जा रही है।

दूसरी ओर गोगानवमी पर नागझिरी में लगे एक दिवसीय मेले में बोंदरू बाबा की समाधि  पर देश के कई राज्यों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। पुजारी श्री जगन्नाथ ने बताया कि इस वर्ष संतान प्राप्ति के इच्छुक 650 महिलाओं  ने कच्ची केरी का प्रसाद ग्रहण किया , जबकि 110  दम्पतियों ने संतान प्राप्ति के बाद अपनी मन्नत पूरी की. इस आयोजन में विधायक द्वय श्री रवि जोशी और श्री केदार डावर सहित अन्य जन प्रतिनिधि और प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे. गोगा नवमी के एक दिन पहले क्षेत्र के वनवासियों ने नवाई पर्व धूमधाम से मनाया.रक्षा बंधन के साथ नए वस्त्रों में कुलदेवी का पूजन किया गया. इसके बाद नई फसल को खाने की शुरुआत की गई. इस दिन से किसानों की खेती से आमदनी आरम्भ होती है.अजजा वर्ग के लोग दूरदराज से कुलदेवी के पूजन के लिए अपने पैतृक निवास पर आते हैं.

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles