जैविक उत्पाद के विपणन हेतु परिचर्चा आयोजित

Share On :

discussion-organized-for-marketing-of-organic-product

इंदौर। गत दिनों परम्परागत कृषि विकास योजना अंतर्गत इंदौर जिले में जैविक खेती करने वाले किसानों के जैविक उत्पादों के विपणन के जैविक सेतु एवं किसानों के बीच सामंजस्य स्थापित करने के उद्देश्य से एक दिवसीय परिचर्चा का आयोजन किया गया।

आत्मा किसान कल्याण और कृषि विकास की इस परिचर्चा के आरम्भ में इंदौर जिले की आत्मा परियोजना संचालक श्रीमती शर्ली जॉन थॉमस ने परम्परागत कृषि विकास योजना के तहत गत तीन वर्षों में क्लस्टर के माध्यम से कृषकों द्वारा की जा रही जैविक खेती के संबंध में सामान्य चर्चा की। इस मौके पर जैविक किसानों ने भी अपनी जैविक फसलों की जानकारी सभी सदस्यों को दी। परिचर्चा में इंदौर जिले के उपभोक्ताओं की जैविक उत्पाद की जरूरत और उसकी पूर्ति कैसे हो इस पर भी विस्तार से विचार किया गया। किसानों ने अगले रबी सीजन की फसलों में सब्जी और फलों को शामिल कर जिले की जरूरत के मुताबिक जैविक उत्पादन करने पर विशेष जोर दिया। जैविक गुड़ और मशरूम का विपणन भी जैविक सेतु के माध्यम से कराए जाने पर भी विचार किया गया। आत्मा और अन्य विभागों द्वारा जैविक समूहों के माध्यम से अन्य किसानों को भी जैविक खेती करने हेतु प्रोत्साहित किया गया, ताकि पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाने के साथ ही किसानों के सामाजिक और आर्थिक स्तर में सुधार लाया जा सके।
 

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles