रिलायंस फाउण्डेशन की किसानों को सलाह

Share On :

reliance-foundation-advice-for-farmers

जल शक्ति अभियान

  • जल संरक्षण हेतु भूमिगत जल का पुनर्भरण किया जाए, जहां पानी बरस कर भूमि पर गिरे उसे वहीं यथासंभव रोका जाये। जल संरक्षण के विभिन्न तरीके अपनाकर खेत व उसके आसपास जल का संरक्षण किया जा सकता है, जैसे छोटे-छोटे तालाबों का निर्माण, मेढ़ बंधी, ट्यूबबेल रिचार्ज, कुओं में पाइप के माध्यम से बरसाती पानी को उतारकर, आदि से वर्षा जल को संरक्षित कर भू-जल को बढ़ाने में योगदान दें।

पौध संरक्षण

  • सोयाबीन में चने की एवं तम्बाखू की इल्ली का प्रकोप शुरू होने की संभावना है। नियंत्रण हेतु थायोमिथाक्सम + लेम्बडा सायहेलोथ्रिन 125 मिली/हे. की दर से 500 ली. पानी के साथ छिड़कें ।
  • सोयाबीन में सफेद सूंडी का प्रकोप देखने में आ रहा है, नियंत्रण हेतु इमिडाक्लोप्रिड 17.8 एस.एल. 300 मिली/हे. अथवा जैविक कीटनाशक ब्यूवेरिया बेसिआना/मेटाराइझियम एनाइसोप्ली 1 किलो/हे. की दर से उपयोग करें।
  • सोयाबीन में पीला मोजाइक बीमारी को फैलाने वाली सफेद मक्खी के प्रबंधन के लिए खेत में यलो स्टीकी ट्रैप का प्रयोग करें जिससे मक्खी के वयस्क नष्ट किये जा सके। 
  • धान में ब्लास्ट यानि झुलसा नामक बीमारी का प्रकोप होने की संभावना है। इस रोग के लक्षण पत्तियों पर आंखनुमा धब्बे लिए होते हंै। इसके नियंत्रण हेतु ट्राईसाइक्लोजोल 75 प्रतिशत दवा की 10-15 ग्राम मात्रा प्रति 15 लीटर पानी में घोलकर प्रयोग करें।

उद्यानिकी

  • बरसाती प्याज में थ्रिप्स कीट पत्तियों के मध्य शिरे आधार से रस चूसते हैं, इनके नियंत्रण के लिए इमिडाक्लोप्रिड 17.8 प्रतिशत दवा की 8 मिलीलीटर अथवा डाईमिथिएट दवा की 30 मिलीलीटर को 15 लीटर पानी में घोल कर छिड़काव करें।

कृषि, पशुपालन, मौसम, स्वास्थ, शिक्षा आदि की जानकारी के लिए जियो चैट डाउनलोड करें-डाउनलोड करने की प्रक्रिया:-

  • गूगल प्ले स्टोर से जियो चैट एप का चयन करें और इंस्टॉल बटन दबाएं। 
  • जियो चैट को इंस्टॉल करने के बाद, ओपन बटन दबाएं।
  • उसके बाद चैनल बटन पर क्लिक करें और चैनल Information Services MP का चयन करें। 
  • या आप नीचे के QR Code को स्कैन कर, सीधे Information Services MP चैनल का चयन कर सकते हैं। 
Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles