रिलायंस फाउण्डेशन की किसानों को सलाह

Share On :

reliance-foundation-advice-for-farmers

  • सभी खरीफ  फसलों में मौसम साफ होते ही अन्त:कर्षण क्रिया करें। फसलों में कुल्पा अथवा डोरा चलायें एवं निंदाई-गुड़ाई करें।
  • सोयाबीन एवं अन्य खरीफ फसलों में धान को छोड़कर जल निकास की उचित व्यवस्था बनाए रखें।
  • वर्षा को ध्यान में रखते हुए किसानों को सलाह है कि वे अपने खेतों के किसी एक भाग में वर्षा के पानी को इक_ा करने की व्यवस्था करें जिसका उपयोग वे वर्षा न आने के दौरान फसलों की उचित समय पर सिंचाई के लिए कर सकें ।
  • सोयाबीन को पर्णभक्षी एवं रसचूसक कीटों से बचाव हेतु क्लोरएन्ट्रानिलिप्रोल 100 मिली/हे. या क्विनालफॉस 25 ईसी 1.5 लीटर/हे. का छिड़काव करें।
  • सफेद मक्खी द्वारा फैलाये जाने वाला पीला मोजाइक रोग से ग्रसित पौधों को खेत से बाहर निकालकर गाड़ दें। सफेद मक्खियां की रोकथाम के लिए इमीडाक्लोप्रिड का 750 मिली/हे. की दर से छिड़कें।
  • मक्का में खरपतवार प्रबंधन हेतु टेम्बोट्रियोन 115 मिली़एट्राजिन 400 ग्राम/एकड़ बुवाई के 15-20 दिन में 150 ली. पानी में घोल कर नैकसेप स्प्रेयर एवं फ्लेटफैन नोजल की सहायता से प्रयोग करें।
  • धान की फसल में सकरी पत्ती के चारे जैसे सांवा घास आदि के नियंत्रण हेतु फिनोक्साप्रोप पी एथाइल का 200 एमएल प्रति एकड़ के हिसाब से बुवाई रोपाई के 25 दिन में छिड़काव करें।
  • कपास में रसचूसक का प्रकोप होने पर इमिडाक्लोप्रिड 0.5 मिली/ ली. पानी या इमिडाक्लोप्रिड एसिफेट 1 ग्रा./ली. पानी में मिलाकर छिड़कें ।

उद्यानिकी

  • वर्षाकालीन सब्जियों में सफेद मक्खी का प्रकोप होने पर नियंत्रण के लिए थायोमिथक्सिन प्रति 0.35 ग्रा. प्रति लीटर का छिड़कें।

पशुपालन

  • वर्षा का गंदा पानी तालाबों से पीने से पशुओं में पेट के कीड़ों के अतिरिक्त रोग भी हो जाते हैं, अत: पशुचिकित्सक की सलाह से कृमिनाशक दवाई 15-20 दिन के अन्तर से अवश्य पिलाएं।

कृषि, पशुपालन, मौसम, स्वास्थ, शिक्षा आदि की जानकारी के लिए जियो चैट डाउनलोड करें-डाउनलोड करने की प्रक्रिया:-

  • गूगल प्ले स्टोर से जियो चैट एप का चयन करें और इंस्टॉल बटन दबाएं। 
  • जियो चैट को इंस्टॉल करने के बाद, ओपन बटन दबाएं।
  • उसके बाद चैनल बटन पर क्लिक करें और चैनल Inform- ation Services MP का चयन करें। 
  • या आप नीचे के QR Code को स्कैन कर, सीधे Inform- ation Services MP चैनल का चयन कर सकते हैं। 
टोल फ्री नं.180041 9 8800 पर 
संपर्क करें सुबह 9.30 से शाम 7.30 बजे तक

 

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles