सोयाबीन की बोनी

Share On :

soybean-sowing-time-limit

समस्या - सोयाबीन की बोनी कब तक की जानी चाहिये, विस्तार से बतायें।

समाधान- पिछले कुछ वर्षों से मानसून की लुका-छिपी के कारण सोयाबीन जो कि हमारे प्रांत की प्रमुख खरीफ फसल है की बुआई का निर्णय लेना किसानों के लिये कठिन होता जा रहा है छुटपुट वर्षा से भूमि में पर्याप्त नमी नहीं बन पाती है जल्दबाजी में बुआई का निर्णय कदापि नहीं लेना चाहिये भूमि में कम से कम 4 इंच की नमी बनी हो उसके बाद ही बुआई की जानी चाहिये। कभी-कभी ऐसा भी होता है बोनी की अंकुरण हुआ और पानी गायब फसल सूखने की नौबत आ जाती है। या कभी-कभी ऐसा भी होता है कि सतत वर्षा होने लगती है 'ब्रेक' नही आता है। बुआई का निर्णय स्थान, भूमि के प्रकार तथा वर्षा कब आ सकती इन सभी बातों को ध्यान में रखकर करें। भारी भूमि में नमी अधिक दिनों तक टिकती है हल्की जमीन में वो बात नहीं होती है। वर्तमान में दूरदर्शन, रेडियो अखबार में वर्षा के बारे में आता रहता है जिस पर ध्यान रखना चाहिये और मार्गदर्शन लेकर ही बुआई की जानी चाहिये। सामान्य परिस्थितियों में आदर्श बुआई का समय जून के अंतिम सप्ताह से लेकर जुलाई का प्रथम सप्ताह होता है।

- जगदीश पाटीदार, शाजापुर
 

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles