प्रदेश में मानसून के आते ही खरीफ बोनी में तेजी - श्री शुक्ला

Share On :

monsoon-showers-speeds-up-kharif-sowing

संचालक कृषि से कृषक जगत की बातचीत 

(अतुल सक्सेना)
भोपाल। म.प्र. में मानसून के आते ही खरीफ बुवाई में तेजी आयी है। इस वर्ष 137 लाख हेक्टेयर में खरीफ फसलें लेने का लक्ष्य रखा गया है। इसके विरूद्ध अब तक 14.64 लाख हेक्टेयर में बोनी कर ली गई है। कृषि आदान की पर्याप्त व्यवस्था की गई है साथ ही मैदानी अधिकारियों को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं। जिससे कृषकों को परेशानी का सामना न करना पड़े। यह जानकारी प्रदेश के संचालक कृषि श्री मुकेश शुक्ला ने दी। 

श्री शुक्ला ने बताया कि राज्य में खरीफ फसलों का सामान्य क्षेत्र 118.50 लाख हेक्टेयर है। इस वर्ष 137.01 लाख हेक्टेयर में खरीफ फसलें लेने का लक्ष्य रखा गया है। इसके विरूद्ध 14.64 लाख हेक्टेयर में बोनी कर ली गई है। 

म.प्र. में बुवाई स्थिति 
(3 जुलाई तक) (लाख हे. में)
फसल लक्ष्य बुवाई
धान 24.97 0.25
ज्वार 1.39 0.07
मक्का 13.68 1.54
अरहर 4.47 0.15
उड़द 16.6 0.16
मूंग 1.92 0.1
सोयाबीन 56.32 8.5
मूंगफली 2.36 0.1
कपास 6.25 3.73

संचालक कृषि ने बताया कि राज्य में इस वर्ष धान 24.97 लाख हेक्टेयर में, मक्का 13.68, अरहर 4.47, उड़द 16.60 लाख हेक्टेयर में लेने का लक्ष्य है। उन्होंने बताया कि राज्य की प्रमुख फसल सोयाबीन इस वर्ष 56.32 लाख हेक्टेयर में लेने का लक्ष्य है। इसके विरूद्ध अब तक 8.50 लाख हेक्टेयर में बोनी कर ली गई है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष कुल अनाज फसलें 43.97 लाख हेक्टेयर में, दलहनी फसलें 23.13 लाख हेक्टेयर में एवं तिलहनी फसलें 63.66 लाख हेक्टेयर में ली जाएंगी। प्रदेश में सभी फसलों की बुवाई प्रारंभ हो गई है। नगदी फसल कपास की बोनी 6.25 लाख हेक्टेयर लक्ष्य के विरूद्ध अब तक 3.73 लाख हेक्टेयर में की गई है। 

खरीफ में प्रमुख उर्वरक वितरण का लक्ष्य (लाख मी. टन)
उर्वरक लक्ष्य
यूरिया 10.5
डीएपी 7
काम्पलेक्स 2
एमओपी 1
एसएसपी 4
Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles