सिन्जेंटा का विक्रेता सम्मेलन संपन्न

Share On :

syngenta-dealer-distributor-meeting

इंदौर। बीज और कीटनाशक उत्पादों की प्रख्यात बहुराष्ट्रीय कम्पनी सिन्जेंटा इण्डिया लि. का विक्रेता सम्मेलन गत दिनों आयोजित किया गया, जिसमें कम्पनी के डिवीजनल सेल्स मैनेजर श्री नमित तिवारी, जीटीएम लीड श्री प्रभाकर बरई, डिवीजनल मार्केटिंग लीड श्री पंकज चुघ, श्री आदर्श कुलकर्णी, सुश्री स्वाति तिवारी, मिलिंद बेडेकर  के साथ ही बड़ी संख्या में विक्रेतागण उपस्थित थे।

श्री नमित तिवारी ने कहा कि सिन्जेंटा विश्व की शीर्ष कंपनियों में शामिल है। अभी कम्पनी के 44 उत्पाद प्रचलन में है। दस माह बाद और कई नए उत्पाद सामने आएंगे। देश के 20  हजार करोड़ के इस व्यवसाय में कम्पनी ने अपनी हिस्सेदारी एक प्रतिशत बढ़ाई है।  21-30 प्रतिशत ग्रोथ का लक्ष्य रखा गया है। कम्पनी अपने चैनल पार्टनर्स को प्रेरित कर टीम भावना को फोकस करते हुए इस प्रतिस्पर्धात्मक युग में अपना व्यवसाय कर रही है। आपने बाजार में नकद बिक्री के बढ़ते व्यवहार को भविष्य के लिए अच्छा संकेत बताया। इस अवसर पर  सोयाबीन के बीजोपचार हेतु क्रूजर -350 एफएस,कपास की सफ़ेद मक्खी के लिए पोलो जैप, धान के फफूंदनाश के लिए ग्लो आईटी और मक्का के फफूंदनाश  के लिए एम्पेक्ट एक्स्ट्रा लांच किए गए।

श्री तिवारी ने कर्नाटक के बाद  मध्यप्रदेश में मक्का पर मंडरा रहे फॉल आर्मी वार्म  के खतरे का जिक्र करते हुए कहा कि इसकी रोकथाम के लिए भारत सरकार के कृषि मंत्रालय ने बीजोपचार टेक्निकल थायोमेथाक्सिम 19.8 प्रतिशत और Cyantraniliprole 19.8 प्रतिशत के फार्मुलेशन की  सिर्फ सिन्जेंटा को सिफारिश की गई है। सिर्फ सिन्जेंटा ही अपना यह उत्पाद फ्रोटेन्ज़ा ड्यूओ के नाम से बाजार में बेच रही है। इस बीजोपचार से फसल अंकुरण के 2 -3 सप्ताह बाद  फॉल  आर्मी वार्म से सुरक्षा मिलती है। श्री पंकज चुघ ने कम्पनी के उत्पाद क्रूजर 350 - एफएस की विशेषताओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह उत्पाद कीट नियंत्रण के अलावा पौधे को अजैविक तनाव का सामना करने में मदद करता है। 

शुरूआती अवस्था में कीटों पर बहुआयामी प्रभावी नियंत्रण करता है। वहीं श्री गजराज राठौड़ ने सोयाबीन की इल्लियों पर प्रभावकारी एम्पलीजो उत्पाद की जानकारी देकर बुआई के 30 -35 और 50 -60  दिन में 80 मिलीलीटर प्रति एकड़ की दर से उपयोग करने की सलाह दी। इस आयोजन को सफल बनाने में एरिया बिजनेस मैनेजर श्री गजराज राठौड़, श्री देवेंद्र कौशिक , श्री अमित शर्मा, श्री नीरज शर्मा, सुरजीत परिहार का भी सराहनीय योगदान रहा। इस अवसर पर विशिष्ट कार्य करने वाले विक्रेताओं का सम्मान भी किया गया।

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles