कपास रकबे में वृद्धि, 8 लाख बीटी पैकेट का बाजार

Share On :

cotton-acreage-goes-up-market-of-8-lakh-bt-packets

उपसंचालक कृषि श्री एम. एल. चौहान किसानों से चर्चा करते हुए।

(प्रकाश दुबे)

खरगोन। जिले के संदर्भ में इसरो क्रॉप कटिंग आंकड़े कपास फसल का 25 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उत्पादन बताते हैं। वहीं कपास के 7 हजार तक भाव ने जिले के किसानों का रुझान कपास की तरफ एक बार फिर मोड़ दिया है। उत्पादन एवं अच्छा भाव कपास के रकबे में वृद्धि का कारण है। जिले के उपसंचालक कृषि श्री एम.एल. चौहान बताते हैं कि पिछले वर्ष 1 लाख 96 हजार हेक्टेयर क्षेत्र था जबकि इस वर्ष 2 लाख 10 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में किसान कपास लगायेंगे। अभी तक लगभग 20 हजार हेक्टेयर में कपास की बुआई हो चुकी है।

जिले में 8 से 10 लाख बीटी बीज पैकेट विक्रय की संभावना है जबकि अभी तक 6 लाख पैकेट किसानों को उपलब्ध कराये गये हैं। श्री चौहान ने किसानों से अपील की है कि सभी कंपनियों के बीटी बीज बाजार में उपलब्ध है, जिसका प्रयोग कर वे कपास की अच्छी फसल ले सकते हैं।

विभाग ने विशेष किस्म के बीटी काटन बीज पैकेट विक्रय की व्यवस्था बनाई है। इसके तहत ऋण पुस्तिका पर एक टोकन जारी करेंगे जिसमें किसान 4 पैकेट प्राप्त करेगा। 5 विकासखंडों में विशेष काउंटर बनाये गये हैं। बीटी कपास का जिले में किसान 8 से 10 क्विंटल प्रति एकड़ उत्पादन लेते हैं।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कपास की मांग

पिछले वर्ष देश के कई स्थानों में जल संकट के कारण कपास फसल प्रभावित हुई थी। तब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कपास की मांग म.प्र. के कपास उत्पादक किसानों ने पूरी की। इसी का परिणाम इस वर्ष कपास फसल के रकबे में वृद्धि है। एक अनुमान के तहत भारत में उत्पादित कपास की मांग कई देशों में रहती है। खासकर जैविक तरीके से उत्पादित कपास फसल की।


 

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles