भारत इन्सेक्टीसाइड्स का वितरक सम्मेलन संपन्न

Share On :

bharat-insecticides-concludes-distributor-conference

इंदौर। प्रसिद्ध कीटनाशक कम्पनी भारत इन्सेक्टीसाइड्स लि.का वितरक सम्मेलन गत दिनों यहां की एक निजी होटल में आयोजित किया गया। जिसमें कम्पनी के डायरेक्टर श्री धर्मेश गुप्ता, वाइस प्रेसीडेंट श्री नरेंद्र कौशल, डिविजनल हेड (मप्र) श्री एसएस जावला, मार्केट डेवलपमेंट मैनेजर श्री एल. के. त्यागी, प्रोडक्ट मैनेजर श्री एल. विनोद, सेल्स को-ऑर्डिनेटर रुपाली शर्मा विशेष रूप से उपस्थित थे।

बड़ी संख्या में उपस्थित वितरकों को सम्बोधित करते हुए श्री धर्मेश गुप्ता ने कहा कि 42 साल पहले यह कम्पनी स्थापित की गई थी। भारत ग्रुप परिवार में भारत इन्सेक्टीसाइड्स, भारत रसायन और बीआर एग्रोवेट शामिल है। ग्राहकों को संतोष के साथ उच्च गुणवत्ता का उत्पाद सही कीमत पर सही समय पर मिले यह कम्पनी का उद्देश्य है। कम्पनी के 6  निर्माण संयत्र में से जम्मू -कश्मीर में 2, हिमाचल प्रदेश में 1, हरियाणा में 2 और 1 भरुच गुजरात में स्थापित है। कम्पनी का नाम देश की चार शीर्ष  कंपनियों में शुमार होकर इसके उत्पाद अंतर्राष्ट्रीय स्तर के हैं। कम्पनी का टर्न ओवर 2005 -06 में 200 करोड़ था, जो वर्ष 2017 -18 में 1780 करोड़ तक पहुँच गया है। श्री गुप्ता ने खुलासा किया कि केंद्र सरकार ने जिन 18  उत्पादों के निर्माण पर प्रतिबंध लगाया है, उसके स्टॉक को 31 .12 .2020 तक नि:संकोच  बेचा जा सकता है। कम्पनी ने अब हर्बीसाइड्स और फंगीसाइड्स को भी अपने पोर्टफोलियो में शामिल करने और भारत समूह द्वारा 18  तकनीकी ग्रेड के कीटनाशकों के निर्माण की जानकारी दी।

श्री नरेंद्र कौशल ने कम्पनी की विनिंग टू गेदर थीम का जिक्र कर किसान,व्यावसायिक साझेदार और संगठन को प्रमुख स्तम्भ बताते हुए 80 उत्पादों की गुणवत्ता और पारदर्शिता का वादा किया और 4400 वितरकों के वर्गीकरण को विस्तार से बताया। व्यवसाय की कार्ययोजनाओं की जानकारी के साथ सम्पर्क में आए 7 लाख किसानों को एसएमएस सुविधा, भारत किसान ऐप और भारत कृषि समाधान कॉल सेंटर के बारे में भी बताया। श्री एसएस जावला ने कार्यक्रम की रुपरेखा और टीम का परिचय करते हुए किसानों के रुझान, बाजार नीति और अन्य गतिविधियों की जानकारी दी।

श्री एल. विनोद ने सोयाबीन , कपास ,मक्का, मूंगफली, सब्जियों आदि फसलों पर लगने वाले कीटों और रोगों की पहचान और समस्या को दृश्य -श्रव्य माध्यम से विस्तार से समझाते हुए उनके समाधान के लिए लांच किए गए  तीन उत्पाद धाक, जंग और ऐलान की विशेषताएं बताईं, जो रसचूसक, तना मक्खी, सफेद मक्खी, गर्डल बीटल, सुंडी, मोथा आदि का प्रभावी नियंत्रण करता है। भारत इन्सेक्टीसाइड्स द्वारा किसानों को कीटनाशकों के सुरक्षित और विवेकपूर्ण उपयोग के लिए शिक्षित करने की पहल करने पर उसे 2019 में बेस्ट स्टेन्डशिप प्रोग्राम में एग्री अवार्ड्स मिलने की जानकारी दी गई। आयोजन को सफल बनाने में रीजनल हेड श्री केके दुबे (इंदौर), मनीष श्रीवास्तव (खरगोन),श्री आरके शर्मा (जबलपुर), डेवलपमेंट एग्जीक्यूटिव श्री मनीष बिसेन (जबलपुर) और सेल्स टीम के सदस्यों का सराहनीय योगदान रहा।

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles