आधुनिक कार्प हेचरी संरचना

Share On :

modern-carp-hatchery-structure

कार्प हेचरी के भाग-

  • ऑवरहेड टैंक
  • प्रजनन कुंड सह अण्ड निषेचन कुण्ड
  • जीरा संचय कुंड 
कार्प कल्चर भारत में प्राचीन प्रथा है। कार्प कल्चर के लिए अच्छी गुणवत्ता वाले बीज की आवश्कता होती है। जब तक प्रेरित प्रजनन का विकास नहीं हुआ था तब नदियों से जीरा एकत्र किया जाता था। 1970 में 92त्न जीरा बीज नदियों से प्राप्त हुआ था। नदियों से हमें अवांछनीय व अशुद्ध बीज प्राप्त होता था इस समस्या को दूर करने के लिए 1980 में कार्प हैचरी का विकास किया गया। कार्प हैचरी एक गोलाकार संरचना है जिसमें कार्प के प्रजनन हेतु कृत्रिम वातावरण प्रदान किया जाता है। सफल हैचरी उचित उत्पादन तब देती है जब वातावरण प्रजनन के अनुकूल हो। 

ऑवरहेड टैंक-

ऑवरहेड टैंक रेत, सीमेंट एवं कंकरीट का बना होता है। इसकी क्षमता 10,000 से 30,000 लीटर होती है। जल स्त्रोत से मोटर द्वारा जल एकत्र किया जाता है। ऑवरहेड टैंक द्वारा स्पॉनिग कुंड (प्रजनन कुंड), अंड निषेेचिन कुंड एवं अंडा संचय कुंड में जल पहुंचाया जाता है जिसका प्रवाह वॉल द्वारा नियंत्रित किया जाता है।

टीके की दरें-        
मछली             पिटयुटरी रस      कृत्रिम हार्मोन (ऑवाप्रिम,       ऑवाटाइड,wonafh)  
  मादा (मिलीग्राम/ शरीर भार) नर (मिलीग्राम/ शरीर भार) मादा (मिलीग्राम/ शरीर भार) नर (मिलीग्राम/ शरीर भार)
कतला प्रथम दर 2-3 द्वितीय दर 5-8 प्रथम दर नहीं द्वितीय  दर 2-3 0.4-0.5 0.1-0.3
रोहु प्रथम दर 5-8 द्वितीय दर 5-8 प्रथम दर नहीं द्वितीय  दर 2-3 0.3-0.4 0.1-0.3
मृगल प्रथम दर 2-3 द्वितीय  दर 5-8 प्रथम दर नहीं द्वितीय  दर 2-3 0.25-0.3 0.1-0.3
ग्रास कार्प प्रथम दर 4-6 द्वितीय  दर 10-16 प्रथम दर नहीं द्वितीय  दर 4-6 0.4-0.8 0.1-0.3
सिल्वर कार्प प्रथम दर 4-6 द्वितीय  दर 10-16 प्रथम दर नहीं द्वितीय  दर 4-6 0.4-0.7 0.1-0.3
केट मछली प्रथम दर 10 द्वितीय  दर 20 प्रथम दर नहीं द्वितीय  दर 10 0.6-0.8 0.15-0.4
महासीर प्रथम दर 10 द्वितीय  दर 20 प्रथम दर नहीं द्वितीय  दर 10 0.6-0.7 0.1-0.3

प्रजनन कुंड सह अंड निषेचिन कुंड - 

यह गोलाकार टैंक होता है जो ईंट और सीमेंट का बना होता है। इसमे दो कक्ष होते हैं। बाहरी कक्ष का व्यास 3 से 4 मी. और गहराई 0.8 से 1.0 मी. तथा जलधारण क्षमता 9 से 10 क्यूबिक मी. होती है तथा आंतरिक कक्ष का व्यास 0.6 से 1.0 मी. होती है तथा आंतरिक कक्ष में नाइलोन की जाली लगी होती है। इक्यूवेशन कुण्ड में 1 क्यूबिक मी. जल में 9,00,000 से 10,00,000 अंडे एकत्र किए जा सकते हैं। टैंक की ढलान मध्य में होती है जो पाइप से जुड़ा होता है जो कि अंडा संचय कुंड  से जुड़ा होता है। इसके मध्य तल में बतख के मुंह के आकार के पाइप लगे होते हैं जो कि पानी को घुमाते हैं जिससे अंडे तल में नहीं बैठते हैं। 

प्रजनन तकनीक- सर्वप्रथम कुंड में पानी भरेंगे तथा मध्य तल में लगे बतख के मुंह के आकार पाइप वाले पानी छोडेंग़े ताकि कुंड  का पानी घूमने लगे। इसके बाद कुंड में नर व मादा टीका लगा कर छोड़ते हैं।

जीरा संचय कुंड 

यह आयताकार सीमेंट का टैंक होता हैं। इसमें एक नायलोन हापा लगा होता है जिसमे जीरा एकत्र करते हैं।
आवश्यक तापमान- 24-31 डिग्री सेन्टीग्रेट।

 

द्वितीय  टीका प्रथम टीके के 6 घंटे के अन्तराल में लगाते हैं।  
  • कुंड में फुहारे चालू कर देते है और नदी जैसा वातावरण उत्पन्न करते हैं। तथा 6-8 घंटों बाद मादा मछली अंडे व नर मछली मिल्ट छोड़ देते हैं जिससे अंडे निषेचित हो जाते हेैं। इसके बाद निषेेचित अंडों को आउट-लेट पाइप द्वारा अंड निषेचिन कुंड में एकत्र कर लेगें।
  • अंड निषेचिन कुंड में जल प्रवााह चालू करेंगे यहां अंडे निषेचन से लेकर जीरा अवस्था तक आते हैं इस क्रिया में 18-20 घंटों का समय लगता है।
वें निम्न अवस्था हैं  
समय 24- अवस्था
31 डिग्री सेन्टीग्रेड पर  
0 मिनिट निषेचन
10-15 मिनिट water hardening
30-50 मिनिट प्रथम विपाटन ( 2 कोशिका में )
40-65 मिनिट द्वितिया विपाटन ( 4 कोशिका में )
50-80 मिनिट तृतीया विपाटन ( 8 कोशिका में )
60-90 मिनिट चतुर्थ विपाटन ( 16 कोशिका में )
70-120 मिनिट पांचवा विपाटन ( 32 कोशिका में )
2-2.5 घंटे मॉरूला अवस्था  ( 25त्न जर्दी का उपयोग होना )
2.5-3 घंटे बलस्टुला अवस्था  ( 50त्न जर्दी का उपयोग होना)
3-3.5 घंटे गास्टुला अवस्था  ( 75त्न जर्दी का उपयोग होना )
3-4 घंटे बलास्टोपोर अवस्था (100त्न जर्दी का उपयोग होना)
4-6 घंटे भ्रूणीय अवस्था  
5-6 घंटे भ्रूण का मठर के दाने के समान होना
8-10 घंटे भ्रूण का कोमा के आकार का होना
14-15 घंटे भ्रूण की अग्र अवस्था
18-20 घंटे जीरा अवस्था
अन्त में जीरा को जीरा संचय कुंड  में एकत्र कर लेंगे।  
इको हेचरी-  
स्पॉनिग कुंड (प्रजनन कुंड  )   07.00 लाख रूपये
एवं अंड निषेचिन कुंड  
(अ)  स्पॉनिग कुंड (प्रजनन कुंड ) 05.09 लाख रूपये
(ब) अंड निषेचिन कुंड  1.91 लाख रूपये
ऑवरहेड टैंक 25,000 लीटर 30,000 रूपये
पाइप लाइन 8x6x200 31,200 रूपये
पम्प सेट  (5 एचपी) 25,000 रूपये
जनरेटर (10 केवीके ) 30,000 रूपये
गार्ड कमरा एवं ऑफिस कमरा 02.00 लाख रूपये
वयस्क मछली ( 5 टन ) 07.50 लाख रूपये
तालाब एवं पॉण्ड 2 हेक्टर 09.00 लाख रूपये
अन्य सामग्री- नेट, हापा एवं कुनका  30,000 रूपये
योग- 26 लाख 96200 रूपये
कार्प बीज उत्पादन की अनुमानित लागत - 1 मिलियन बीज उत्पादन
साम्रगी छर
वयस्क मछली V®kg@Rs.150/kg 1500 हजार
कृत्रिम हार्मोन (ऑवापिम,ऑवाटाइट) 10 मीग्रा 40 रूपये
हापा एवं उपकरण 30,000 रूपये
वेतन -(मजदूर वेतन एवं विशेषज्ञ )  30,000 रूपये
अन्य लागत-( फिंड एवं बिजली) 20,000 रूपये
योग- 81540 रूपये
  • विकास कुमार उज्जैनिया 
  • दिलीप राठौर 

मात्स्यकी महाविद्यालय महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, उदयपुर 
vikasujjania@gmail.com

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles