पशुधन का उत्पादन और किसानों की आय दोगुनी करने एकीकृत खेती जरुरी

Share On :

integrated-farming-requires-the-production-of-livestock-and-doubling-the-income-of-farmers

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति श्री एम वेंकैया नायडू ने पशुधन की उत्पादक क्षमता बढ़ाने और किसानों की आय दोगुनी करने के लिए एकीकृत खेती को प्रोत्साहित करने पर बल दिया है।

गतदिनों तिरूपति के श्री वेंकटेश्वर पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय के 8वें दीक्षांत समारोह में श्री नायडू ने कहा कि एक टिकाऊ और समावेशी कृषि व्यवस्था के लिए पशुपालन पर ध्यान दिया जाना बेहद जरूरी है।

एक अध्ययन रिपोर्ट का हवाला देते हुए श्री नायडू ने कहा कि मुर्गीपालन, डेयरी या मत्स्य पालन जैसी विभिन्न गतिविधियां अपनाने वाले कृषक परिवारों में आत्महत्या की घटनाएं नहीं होती। उन्होंने कहा कि पशुधन, विपरीत मौसम और फसल नष्ट हो जाने की स्थिति में कृषक परिवारों को वित्तीय संकट से उबरने में मदद करता है। 

राष्ट्रीय प्रतिदर्श सर्वेक्षण संगठन-एनएसएसओ के आंकड़ों और अनुमानों का हवाला देते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि ग्रामीण भारत में अनुमानित 90.2 मिलियन कृषक परिवार हैं। इनके लिए एक निश्चित आय सुनिश्चित करना हर किसी की प्राथमिक जिम्मेदारी होनी चाहिए।

उन्होंने विशेषकर युवाओं से कृषि को आर्थिक रूप से व्यवहारिक और लाभकारी बनाकर उसे एक आकर्षक करियर के रूप में अपनाने के उपाय तलाशने का आह्वान किया। 

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles