टमाटर फसल की विदाई - गत वर्ष से आधा हुआ टमाटर का उत्पादन

Share On :

tomato-prices-to-go-up-production-reduced-to-half

इंदौर। सब्जी की दुकानों पर लाल सुर्ख टमाटर खरीदने वालों को बता दें कि अब टमाटर की आवक एवं टमाटर का सीजन अब खत्म हो रहा है। टमाटर उत्पादकों के अनुसार इस साल टमाटर का उत्पादन गत वर्ष की तुलना में आधा ही हुआ है, क्योंकि सितंबर में हुई बारिश ने उत्पादन पर बहुत असर डाला।

इस बारे में इंदौर के पास ग्राम पडाली के 30 एकड़ रकबे वाले किसान श्री अनिमेष शर्मा ने कृषक जगत को बताया कि इस वर्ष टमाटर का उत्पादन करीब 35  टन प्रति एकड़ रहा। अब टमाटर का सीजन समाप्त हो गया है। लागत और कीमतों की गणना करना अभी बाकी है, इसलिए वास्तविक आंकड़ों को फिलहाल बता पाना संभव नहीं है।

जबकि शिवपुरी जिले की कोलारस तहसील के ग्राम कुदोनिया के बड़े टमाटर उत्पादक श्री नवीन सिंह जाट ने कृषक जगत को बताया कि 100 एकड़ में टमाटर लगाया था, जिसका इस वर्ष औसत उत्पादन 40-50 टन प्रति एकड़ रहा। जबकि गत वर्ष यह 70 -80 टन प्रति एकड़ हुआ था। इस वर्ष सितंबर में हुई बारिश का उत्पादन पर बुरा असर पड़ा और यह आधा ही रह गया। टमाटर का औसत भाव 6 -7  रुपए  प्रति किलो रहा। इसके अलावा श्री जाट ने 10 एकड़ में शिमला मिर्च भी लगाई थी। जिसका औसत उत्पादन 50 टन प्रति एकड़ रहा और औसत  भाव 15 रुपए प्रति किलो मिला।

इधर, इंदौर सब्जी मंडी के व्यापारी श्री महेश शर्मा ने कृषक जगत को बताया कि टमाटर का सीजन दिवाली से अप्रैल तक रहता है। सीजन में निमाड़ की तरफ से रोजाना 100 -125 ट्रक टमाटर आता था, लेकिन अब टमाटर का सीजन खत्म होने को है। हालांकि अभी भी लाल कच्चा -पका टमाटर आ रहा है। नए टमाटर का भाव 400 -600  रुपए प्रति क्विंटल और पुराने का 150  -350 रुपए क्विंटल का चल रहा है। मंडी में तेजी -मंदी आवक पर निर्भर करती है। आवक ज्यादा होने पर दाम गिर जाते हैं। फिलहाल टमाटर का भाव ऊपर में 800 रु. और नीचे में 300 रु. प्रति क्विंटल चल रहा है।

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles