एक एकड़ में 33 क्विंटल गेहूं का रिकॉर्ड उत्पादन

Share On :

record-production-of-33-quintals-of-wheat-in-one-acre

दामोदरपुरा के किसान ने दिखाया दम 

इंदौर।  कहते हैं समुद्र की गहराई में जाने पर ही मोती मिलते हैं, वैसे ही धरती माँ की कोख से भी फसलरूपी बेशकीमती मोती निकाले जा सकते हैं, बशर्ते किसान मेहनतकश और जागरूक हो। इस बात को एक बार फिर साबित किया है हरदा जिले की खिरकिया तहसील के ग्राम दामोदरपुरा के उन्नत किसान श्री गयाप्रसाद हीरालाल खोरे ने। इन्होंने गेहूं का एक एकड़ में 33  क्विंटल का रिकार्ड उत्पादन हासिल किया है। इस उपलब्धि पर कृषि विभाग द्वारा उन्हें पुरस्कृत करने की अनुशंसा की गई है।

गेहूं उत्पादन का कीर्तिमान रचने की जानकारी मिलने पर कृषक जगत ने 49  वर्षीय प्रगतिशील कृषक श्री गयाप्रसाद से चर्चा में बताया कि उन्होंने 20 एकड़ में गेहूं की तीन किस्में लगाई थी। 5 एकड़ में पूसा तेजस 8759, 13 एकड़ में जी.डब्ल्यू. 322 और 2 एकड़ में शरबती गेहूं लगाया था। इनमें से जी.डब्ल्यू. 322 का उत्पादन 25-30  क्विंटल प्रति एकड़ रहा। जबकि पूसा तेजस का रिकॉर्ड उत्पादन 33 क्विंटल प्रति एकड़ रहा. इस उपलब्धि पर कृषि विभाग द्वारा श्री गयाप्रसाद को पुरस्कृत करने की सिफारिश की गई है।

श्री गयाप्रसाद ने बताया कि बोवनी के पूर्व सुपर फास्फेट, पोटाश और जि़ंक के पर्याप्त छिड़काव,समय -समय पर की गई सिंचाई, खाद और देखरेख का यह नतीजा रहा कि गेहूं के इस उत्पादन ने कीर्तिमान रच दिया। गेहूं के उत्पादन को जांचने के लिए गत दिनों राजस्व विभाग की ओर से पटवारी श्री ओमप्रकाश अंकले, कृषि विभाग की ओर से ग्राकृविअ श्री गजेंद्र चौहान और ग्राम कोटवार श्री राधेश्याम की उपस्थिति में फसल कटाई प्रयोग किया गया। 25 वर्गफीट के रकबे की गेहूं की फसल काटी गई और सफाई पश्चात जब उसका वजन किया गया तो वह 21 किलोग्राम निकला। जिसकी गणना करने पर वह 33 क्विंटल प्रति एकड़ रहा। फसल कटाई का पंचनामा विभागीय अधिकारियों को भेजा गया है। किसान श्री खोरे ने यह जानकारी भी दी कि गत 26  जनवरी को 2 एकड़ में सागर किंग नामक तरबूज की किस्म लगाई थी जिसका उत्पादन 600 क्विंटल हुआ। जिसे उन्होंने 2 लाख 90 हजार में बेच दिया। 90 हजार की लागत काटने के बाद उन्हें दो लाख की शुद्ध बचत हुई।

इस बारे में खिरकिया के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी श्री एसके जैन ने कृषक जगत को बताया कि किसान श्री गयाप्रसाद के खेत में किए गए फसल कटाई के प्रयोग में 33 क्विंटल प्रति एकड़ का उत्पादन पाया गया है, जबकि इस ब्लॉक में औसत उत्पादन 20 -21 क्विंटल प्रति एकड़ है। यह औसत उत्पादन से अधिक हुआ है इसलिए इस किसान को पुरस्कृत करने की अनुशंसा के वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र भेजा जा रहा है।

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles