पारिजात इंडस्ट्रीज की बिक्री 40 फीसदी बढ़ी

Share On :

parijat-industries-sales-up-40-per-cent-increased

नई दिल्ली। एग्रो केमिकल क्षेत्र में स्थापित नाम पारिजात इंडस्ट्रीज ने 31 मार्च 2019 को समाप्त होने वाले वर्ष के लिए अपनी बिक्री में 40 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। कम्पनी ने यह वृद्धि राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में अपनी बढ़ती पकड़ से हासिल की है। एग्रो केमिकल्स क्षेत्र के इस चुनौती भरे वर्ष में पारिजात को अपने भौतिक संसाधनों के विस्तार, वितरक संजाल के विस्तार की रणनीति, वर्तमान तथा वैश्विक बाजार में अपनी पैठ को बढ़ाने की रणनीति से यह बढ़त प्राप्त हुई है। इसके परिणामस्वरूप आईसीआरए द्वारा कम्पनी की वित्तीय रेटिंग को भी स्थिर से सकारात्मक के लिए अपग्रेड किया जा रहा है।

एग्रो केमिकल में स्थापित नाम पारिजात इंडस्ट्रीज

स्थापना- नई पीढ़ी की एग्रो केमिकल कंपनी पारिजात इण्डस्ट्रीज की स्थापना वर्ष 1995 में हुई थी। इसके आधुनिकतम उत्पादन संयंत्र हरियाणा के अम्बाला में स्थित हैं। कंपनी का व्यापार भारत के साथ-साथ 5 उपमहाद्वीपों तक फैला हुआ है।

आधुनिक संसाधन एवं प्रयोगशाला : निरंतर प्रगति करते हुए पारिजात ने अपने वैज्ञानिक एवं तकनीकी संसाधनों का विस्तार किया है। जिसमें कीट वैज्ञानिक, क्यूसी, फार्मूलेशन विकास के लिए प्रयोगशालाएं, पैकेजिंग, प्रोसेस इंजीनियरिंग, पायलेट व फील्ड स्टेशन जैसी अत्याधुनिक सुविधाएं शामिल हैं। 

पर्यावरण पुरस्कार : इतने वर्षों में पारिजात को सुरक्षा एवं पर्यावरण के क्षेत्र में अनेक पुरुस्कार मिले हैं। एक उत्कृष्ट संस्था के रुप में पारिजात हमेशा सुरक्षा, स्वास्थ्य एवं पर्यावरण का ध्यान रखता है। इसके अलावा कंपनी द्वारा स्वास्थ्य, सुरक्षा और पर्यावरण के प्रति जागरुकता, शिक्षा व अभ्यास के लिए नियमित रुप से प्रशिक्षण एवं कैम्प का आयोजन किया जाता है। 

सामाजिक गतिविधियां : पारिजात अपनी सामाजिक जिम्मेदारियों का निर्वहन अपने सामाजिक संगठन पारिजात ऊर्जा चक्र तथा आनन्द फाउण्डेशन के माध्यम से कर रहा है। ये संस्थाएं अमूर्त विरासत की खोज ग्रामीण युवाओं के कौशल विकास, मानव संसाधन, प्रशासन, उत्पादन, भण्डारण आदि के प्रबंधन प्रशिक्षण कार्यक्रम, फलवन परियोजना जैसे कार्यक्रम संचालित करती है।

हाल ही में तमिलनाडु के कुड्डालोर रसायनिक क्षेत्र में तकनीकी निर्माण सुविधा वाले क्रिमसन आर्गेनिक्स के अधिग्रहण से आशा है कि पारिजात कुछ चुनिंदा भारतीय कम्पनियों के समूह में शामिल हो जायेगा। पारिजात के पास पहले से ही फार्मूलेशन के लिए वृहद निर्माण क्षमता है। इस अधिग्रहण के बाद मौजूदा मांग की पूर्ति हेतु केमिकल टेक्नीकल तथा इंटरमिडिएट्स के लिए बाहरी स्त्रोत  पर निर्भरता समाप्त हो जायेगी। वर्तमान में पारिजात मौजूदा मांग की पूर्ति अंबाला स्थित 3 संयंत्रों से करता है। मास्को, लंदन तथा बमाको में स्वयं के पंजीकृत ब्रांड में उत्पादों की उपलब्धता को बढ़ाया है। क्रिमसन अधिग्रहण से उत्साहित पारिजात भारतीय एवं वैश्विक बाजार में अपनी स्थिति और अधिक मजबूत करेगा।

 

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles