मैंने पपीता लगाया है वृक्ष में पीली पत्ती कहीं-कहीं दिख रही हैं उपाय बतायें।

Share On :

yellow-leaves-in-papaya-plantation-causes-and-solution

समाधान- पपीते की पत्तियों पर विषाणु रोग एवं पत्ती मुडऩ रोग आमतौर पर आते हैं और यदि समय से उपाय नहीं हो पाया तो सभी वृक्ष रोगग्रसित हो जाते हैं। यह दोनों बीमारी विषाणु अर्थात् वाईरस के द्वारा होती है और यह वाईरस पौधों पर रसचूसक कीटों के द्वारा फैलता जाता है। मोजेक रोग में पत्तियों पर धब्बे बन जाते है तथा पत्तियां सूख जाती है और पत्ती मोडक रोग में पत्तियां मोटी होकर टूटने लगती हैं शिरायें पीली तथा मोटी हो जाती हैं। पौधों में पोषक तत्व संचार पर इसका असर होता है पौधा बोना तथा फल छोटे-छोटे रह जाते हैं।

  • रोग के प्रथम लक्षण देखने पर पौधा उखाड़ कर नष्ट करें।
  • बगीचे में सफेद मक्खी की क्रियाशीलता पर नजर रखें और मेटासिस्टाक्स या मैलाथियान 1 मि.ली./ली. पानी में घोल बनाकर दो छिड़काव 10 दिनों के अंतर से करें।
  • अंतरवर्तीय फसल के रूप में भिन्डी, मूंग, उड़द नहीं लगायें।

- राम खिलावन, छिंदवाड़ा

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles