रिलायंस फाउण्डेशन की किसानों को सलाह

Share On :

advise-the-farmers-of-reliance-foundation

  • फसलों की कटाई के बाद नरवाई, यानी फसल के ठूंठ या अवशेष खेत में न जलायें बल्कि खेत में जीवांश बढ़ायेें। फसल अवशेषों में आग लगाने से भूमि में जीवांश की कमी होती है। साथ ही खेत में उपलब्ध लाभदायक सूक्ष्मजीवाणु एवं मित्रकीट नष्ट होते हैं, जिससे खेत की उपजाऊ शक्ति में कमी आती है, और प्रकृति तथा पर्यावरण में प्रदूषण भी बढ़ता है।
  • अप्रैल माह में खाली खेत की ग्रीष्मकालीन गहरी जुताई तीन साल में एक बार जरूर करें। गहरी जुताई करने से मृदा में हवा का आवागमन तथा मिट्टी में जलधारण क्षमता बढ़ती है एवं हानिकारक कीट, फफूंद एवं खरपतवार नष्ट होते है।
  • खेत का पानी खेत में व गांव का पानी गांव में के तहत खेत की मेड़बंदी करें एवं गांव के आसपास के नालों में जगह-जगह बोरी बंधान कर जल संरक्षण का कार्य करें।
  • भंडारण से पहले बीज में मिले हुये डंठल, मिट्टी, पत्तियां तथा खरपतवार के बीजों को भली-भांति साफ  कर लें, एवं तेज धूप में 2-3 दिन तक सुखाकर 8 से 10 प्रतिशत नमी होने पर भंडारण करें।

उद्यानिकी

  • भिंडी में रसचूसक सफेद मक्खी, जेसिड आदि के नियंत्रण के लिए डायमेथोएट 30 ईसी की 1 से 1.5 मिली मात्र प्रति लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें।

पशुपालन

  • पशुओं को तेज धूप से बचायेें एवं इस समय पशुओं को हवादार स्थान पर बांधें व दिन में तीन बार पानी पिलायें। दुग्ध उत्पादन बढ़ाने हेतु साफ दाना व हरे, शुष्क चारे के मिश्रण के साथ खिलायें।

कृषि, विज्ञान या अन्य विषय में स्नातक, कम्प्युटर पर कार्य के जानकार भोपाल, विदिशा, सीहोर, रायसेन जिलों के ग्रामीण क्षेत्र में विस्तार कार्य करने के इच्छुक युवा संपर्क करें - 8085954044

कृषि, पशुपालन, मौसम, स्वास्थ, शिक्षा आदि की जानकारी के लिए जियो चैट डाउनलोड करें-डाउनलोड करने की प्रक्रिया:-

  • गूगल प्ले स्टोर से जियो चैट एप का चयन करें और इंस्टॉल बटन दबाएं। 
  • जियो चैट को इंस्टॉल करने के बाद, ओपन बटन दबाएं।
  • उसके बाद चैनल बटन पर क्लिक करें और चैनल ढ्ढठ्ठद्घशह्म्द्वड्डह्लद्बशठ्ठ स्द्गह्म्1द्बष्द्गह्य रूक्क का चयन करें। 
  • या आप नीचे के क्तक्र ष्टशस्रद्ग को स्कैन कर, सीधे ढ्ढठ्ठद्घशह्म्द्व- ड्डह्लद्बशठ्ठ स्द्गह्म्1द्बष्द्गह्य रूक्क चैनल का चयन कर सकते हैं। 
Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles