राजस्थान - वैज्ञानिक तरीके से भेड़-बकरी पालन प्रशिक्षण

Share On :

rajasthan---sheep-goat-rearing-training-in-scientific-manner

मालपुरा (टोंक)। केन्द्रीय भेड़ एवं ऊन अनुसंधान संस्था अंविकानगर में राष्ट्रीय कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत वैज्ञानिक पद्धति से भेड़ बकरी एवं खरगोश पालन को लेकर आठ दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ हुआ। अनुसंधान सलाहकार समिति के अध्यक्ष डॉ. प्रभाकर राव ने कहा कि इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में जो भी पशुपालक भाग ले रहे हैं वे संस्थान के प्रसारक के रूप में कार्य करेंगे। प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद पशुपालक अपने-अपने क्षेत्र में जाकर अन्य पशुपालकों को भेड़-बकरी व खरगोश पालन की वैज्ञानिक विधियों की जानकारी देंगे।

डॉ. अरुण कुमार तोमर ने कहा कि संस्थान द्वारा समय-समय पर कई प्रकार के प्रशिक्षण आयोजित किए जाते रहते हैं। डॉ. तोमर ने बताया कि प्रशिक्षण के दौरान पशुपालकों को संस्थान के सेक्टरों का भ्रमण करवा कर भेड़-बकरी एवं खरगोश का आधुनिक एवं नवीन तकनीक से किए जाने पालन की जानकारी देंगे। 

समारोह को विशिष्ट अतिथि के रूप में अनुसंधान समिति के सदस्य डॉ. साहोता ने बताया कि पशुपालक व किसान चाहे गाय भैंस पालें या भेड़ बकरी पालें उनमें सबसे जरूरी पशु की नस्ल का रखरखाव होता है। कार्यक्रम के सह समन्वयक डॉ. राजकुमार, डॉ. गोपाल गोवाने एवं विनोद कदम ने आभार प्रकट किया।

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles