परवल की खेती करना चाहता हूं, सुझाव दीजिये।

Share On :

i-want-to-cultivate-parwal--suggest-it

समाधान- परवल एक बहुवर्षीय फसल है। इसके लिए गर्म तथा नमी वाली जलवायु चाहिए। इसके लिए अच्छे निकास वाली जीवांशयुक्त भूमि की आवश्यकता होती है।

  • खेत को अच्छी तरह तैयार कर उसमें 1.5&1.5 मीटर दूरी पर 30&30&30 से.मी. गहरे गड्ढ़े बना लें। इसमें 45 किलो गोबर की खाद मिट्टी में मिला कर प्रति गड्ढे को भर दें।
  • गड्ढों में 45 किलो नत्रजन, 60 किलो फास्फोरस व 40 किलो पोटाश/हेक्टर मान से भी दें। 15-15 किलो नत्रजन एक-एक माह के अंतर से खड़ी फसल में तीन बाद दें।
  • इन गड्ढों में सकर या कटिंग की रोपाई 3-5 से.मी. गहराई पर करें। इनका इंतजाम पहले से ही करके रखें। यह आपको पहले से परवल की खेती कर रहे किसानों से प्राप्त हो सकती हैं।
  • कटिंग यह सकर (जड़ों) के रोपाई के बाद नमी अनुसार सिंचाई करना चाहिए। पहली सिंचाई रोपाई के 8-10 दिन बाद कर लें। गर्मी में 10-12 दिन बाद सिंचाई की आवश्यकता पड़ती है। जाड़ों में 20-25 दिन बाद सिंचाई करें। 
  • इसकी कुछ प्रमुख जातियां  है-चेक सलेक्शन 1 व 2, चेक हाईब्रिड 1 व 2, स्वर्ण रेखा, एचपी 4, 5, फैजाबाद परवल 1,3,4।

- चंद्रमौली अहिरवार, छतरपुर

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles