बारिश के पानी को बचाकर बढ़ाएं भू-जलस्तर

Share On :

extend-the-rain-water-by-increasing-the-ground-water-level

 बारिश के पानी को बचाकर बढ़ाएं भू-जलस्तर 

इंदौर। गर्मी की दस्तक शुरू हो गई है। इसके साथ ही भू जल स्तर में गिरावट की खबरें भी आने लगी हैं। इसी कारण ही प्रदेश के कई किसानों को इस साल रबी में गेहूं की सिंचाई में परेशानियों का सामना करना पड़ा है। दरअसल भू जलस्तर गिरने का मुख्य कारण बारिश के पानी को नहीं बचाना है। इसी की हमें सज़ा मिल रही है। रेन वॉटर हार्वेस्टिंग से न केवल बारिश के पानी को बचाया जा सकता है, बल्कि बाढ़ से होने वाले खतरों को भी कम किया जा सकता है।
क्यों घट रहा है भू जलस्तर?-  भू जल विशेषज्ञों के अनुसार जमीन के अंदर भू जल स्तर  की पहली और दूसरी सतह में उपलब्ध पानी का उपयोग 50 प्रतिशत से भी कम करना चाहिए। लेकिन एक सर्वे में जब शहरों के भू जल स्तर विकास की दर जांची गई तो, यह सामान्य से 20 प्रतिशत अर्थात 70 प्रतिशत के आसपास पाई गई। शहरों में लगातार बढ़ रहे भवन और पक्की सड़कों के कारण जमीन का पानी रीचार्ज नहीं हो पा रहा है। शहरों की  जमीन में कांक्रीट की मोटी-मोटी परत बिछ जाने से बरसात का पानी जमीन में नहीं पहुंच पाता है और यह पानी नालियों के माध्यम से नालों, तालाबों या नदियों में चला जाता है, जिससे नदियों का जलस्तर बढ़ जाता है और यह बाढ़ की स्थिति निर्मित कर देता है। जबकि दूसरी ओर भू जलस्तर लगातार नीचे जा रहा है। इसी कारण हरियाली के साथ ही बारिश की मात्रा भी कम होती जा रही है। भू जल के जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल होने और व्यवस्थित तरीके से बारिश के पानी का पुन: उपयोग न होने की विरोधाभासी स्थिति के कारण भू जल स्तर लगातार घटता जा रहा है।
रेन वॉटर हार्वेस्टिंग -  भू जल स्तर को संधारित करने और पानी की किल्लत से बचने का सबसे आसान और कारगर तरीका है, रेन वॉटर हार्वेस्टिंग। रेन वॉटर हार्वेस्टिंग के लिए दो तरीके हैं। पहला रूफ टॉप हार्वेस्टिंग से बड़ी मात्रा में पानी की बचत की जा सकती है। इस व्यवस्था में घर की छतों से निकलने वाले पानी को पाइप लाइन के द्वारा जोड़ दिया जाता है और मैदान में एक टैंक बनवाकर सारा पानी उसी में इक_ा किया जाता है। इसके बाद इसे बोरवेल या रीचार्ज पाइप से जमीन में भेजकर भू जलस्तर को बढ़ाया जाता है। जबकि दूसरे तरीके में घर के शेष क्षेत्र  का पानी नाली के द्वारा  एक जगह गड्ढे में इक_ा किया जाता है जहाँ से भू जलस्तर स्वत: बढ़ता जाता है। इसलिए रेन वॉटर हार्वेस्टिंग लगाया जाना चाहिए। इससे भू जल के लगातार गिरते स्तर को तो बचाया ही जा सकता है, साथ ही जल जमाव और बाढ़ जैसे अप्रिय खतरों को भी कम किया जा सकता है। रेन वॉटर हार्वेस्टिंग की विधि को अपनाना समय की माँग है।

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles