म.प्र. में हॉर्टीकल्चर की विपुल संभावनाएं : डॉं. बिसेन

Share On :

the-huge-possibilities-of-horticulture-in-mp-dr-bisen

म.प्र. में हॉर्टीकल्चर की विपुल संभावनाएं : डॉं. बिसेन

कृविवि में उद्यानिकी विकास पर नेशनल सेमीनार सम्पन्न

जबलपुर। ''मप्र में हॉर्टीकल्चर विकास की विपुल संभावनाएं हैं। मानव हो या प्रकृति इनकी सुन्दरता हॉर्टीकल्चर से ही है। ईश्वर को प्रसन्न करना हो या समारोह में अतिथि सत्कार करना हो और किसी समारोह में चार चांद लगाने हो तो हॉर्टीकल्चर से ही संभव है। तदाशय के उद्गार कुलपति डॉ. प्रदीप कुमार बिसेन ने अध्यक्ष की आसंदी से व्यक्त किये। अवसर था जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय में आयोजित ''आधुनिक उद्यानिकी और भविष्य की चुनौतियां विषय पर 2 दिनी नेशनल सेमीनार के समापन समारोह का। 
समारोह के मुख्य अतिथि विधायक श्री सुशील तिवारी ने कहा कि सुदूर अंचलों के किसानों तक कृषि तकनीक पहुंचेगी तो अनुसंधान सार्थक होगा और किसान तकनीक को अपनाकर खेती करेगा तो मनवांछित फल पायेगा।  
पूर्व में विभागाध्यक्ष व आयोजन सचिव डॉ. शैलेन्द्र पाण्डे ने प्रगति प्रतिवेदन पेश किया। इस दौरान प्रमंडल सदस्य डॉं. एन.एल. इदनानी, अधिष्ठाता कृषि संकाय डॉ. धीरेन्द्र खरे, संचालक अनुसंधान सेवायें डॉ. पी.के. मिश्रा, संचालक शिक्षण डॉ. एस.डी. उपाध्याय, अधिष्ठाता कृषि अभियांत्रिकी संकाय डॉ. आर.के. नेमा, अधिष्ठाता कृषि महाविद्यालय डॉ. आर.एम. साहू, विभागाध्यक्ष डॉं. शैलेन्द्र पाण्डे आदि मंचासीन रहे। कार्यक्रम का संचालन डॉ. अमित शर्मा एवं आभार प्रदर्शन अधिष्ठाता डॉ. आर.एम. साहू, ने किया। 

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles