बीमारियों से बचना है तो रोज खायें मुरब्बा

Share On :

if-you-want-to-avoid-diseases-then-eat-jam-every-day

बीमारियों से बचना है तो रोज खायें मुरब्बा

आमतौर पर मुरब्बे का नाम आते ही लोगों के जहन में आंवले का मुरब्बा आ जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आंवले के मुरब्बे के अलावा कई और सब्जियों और फलों के मुरब्बे बनाये जाते हैं, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। इसमें विटामिन, कैल्शियम, आयरन, फाइबर और मिनरल का सबसे अच्छा स्रोत हैं। इसके सेवन से प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत होती है और हम हेल्दी बने रहते हैं। आइए जानें कौन-कौन से मुरब्बे हमारी सेहत के लिए कैसे फायदेमंद होते हैं।

आंवले का मुरब्बा
आंवले का मुरब्बा विटामिन सी, आयरन और फाइबर का सबसे अच्छा स्रोत होता है। साथ ही इसमें कैल्सियम, विटामिन ए और मैग्नेशियम होता है जो इसे और भी हेल्दी बनाता है। इसके नियमित सेवन से बहुत सारी समस्याओं से राहत मिलती है। आंवले का मुरब्बा प्रतिदिन सुबह-सुबह खाने से हाई ब्लडप्रेशर में बहुत फायदा होता है। इसका नियमित सेवन करने से थकावट दूर हो जाएगी और यह खून की कमी को भी पूरी करता है। यह अल्सर, कब्ज और एसिडिटी में भी बहुत फायदेमंद होता है। इसके अलावा आंवले का मुरब्बा खाने से याददाश्त बढती है। शरीर में चुस्ती-फुर्ती आती है और यह शरीर को तुरंत एनर्जी प्रदान करता है।  
सेब का मुरब्बा
सेब के मुरब्बे में फास्फोरस, आयरन, प्रोटीन, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन बी और सी भरपूर मात्रा में होता है। यह शरीर को एनर्जी प्रदान करने वाला होता है। इसके सेवन से याददाश्त बढ़ती है। यह दिमाग को ठंडा करता है। सिरदर्द में भी काफी फायदेमंद होता है। साथ ही यह मोटापे को नियंत्रित करने में मददगार होता है। ये उन लोगों के लिए रामबाण की तरह जिन्हें रात में नींद नहीं आती है। यह अनिद्रा की समस्या को दूर करता है। 
गाजर का मुरब्बा
गाजर विटामिन ई और आयरन का सबसे समृद्ध स्रोत है। इससे शरीर को आयरन मिलता है। इससे शरीर में नये खून का निर्माण जल्दी हो जाता हैं। गाजर का मुरब्बा आंखों की रोशनी बढ़ाने में मददगार होता है। इसके सेवन से पेट की जलन शांत होती है। एक्सपर्ट के अनुसार, गाजर का मुरब्बा, कफ निकालने, दिमाग को मजबूत रखने व डिप्रेशन को दूर रखने में मददगार होता हैं। इसके नियमित सेवन से उच्च रक्तचाप और हृदय रोग के जोखिम को कम किया जा सकता है। 
बेल का मुरब्बा
बेल में प्रोटीन, फॉस्फोरस, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, कैल्शियम, फैट, फाइबर, विटामिन-सी, बी पाया जाता है। दिमाग और हृदय को शक्ति प्रदान करने के साथ पेट के रोगों में भी बेल को रामबाण माना गया है। यह एसिडिटी दूर करता है और शरीर की प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है। अल्सर और कब्ज के साथ पेचिश की समस्या में यह फायदेमंद है। पेट संबंधी समस्या के लिए बेल के मुरब्बे का सेवन करें।

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles