शक्तिवर्धक द्वारा किसान फसल प्रदर्शन

Share On :

farmer-crop-performance-by-strength

इंदौर। देश की प्रतिष्ठित बीज कम्पनी शक्तिवर्धक हाइब्रिड सीड्स प्रा. लि. द्वारा गत दिनों मालवा -निमाड़ क्षेत्र के ग्राम चोबारा जागीर तहसील सोनकच्छ और ग्राम वरला जिला बड़वानी में किसान फसल प्रदर्शन के कार्यक्रम आयोजित किए गए। जिसमें क्रमश: 150 और 50  किसान मौजूद थे।

इस बारे में कम्पनी के सेल्स ऑफिसर श्री बालकृष्ण पोरवाल ने कृषक जगत को बताया कि कम्पनी द्वारा हरियाणा में अनुसन्धान की गई गेहूं किस्म स्क्रङ्ख - 4282 को इसी वर्ष लांच किया गया है, जबकि गेहूं किस्म स्क्रङ्ख -4142 (डॉली) 4 -5 वर्ष पुरानी है, जिसकी उत्पादन क्षमता अच्छी होने से  किसान इसे बोने के लिए प्रेरित हुए हैं। संशोधित गेहूं बीज स्क्रङ्ख -4142 (डॉली) की ऊंचाई 110 सेमी तक बढ़ती है। फुटाव अधिक होने से सघन दाने वाली बालियां तैयार होती है। चमकदार आकर्षक 1000  दानों का वजन करीब 40 ग्राम बैठता है। यह किस्म करनाल बंट और भूरा रतुआ के प्रति सहनशील होने से उच्च उत्पादन क्षमता रखती है। जबकि दूसरी किस्म स्क्रङ्ख- 4282 समय, अगेती और पिछेती बिजाई के लिए उपयुक्त है। फसल 115  -120 दिन में पक जाती है। इसमें प्रति पौधे कल्ले अधिक निकलते है। बड़ा और आकर्षक दाना रोटी के लिए बेहतर माना गया है।

ग्राम चोबारा जागीर के किसान श्री गजराज सिंह सेंधव ने कृषक जगत को बताया कि दो बीघा में शक्तिवर्धक हाइब्रिड सीड्स कम्पनी की गेहूं की डॉली किस्म इसी साल लगाई है। फिलहाल फसल अच्छी है। करीब 20  दिन बाद फसल कटने पर उत्पादन का पता चलेगा। वहीं वरला के किसान श्री प्रदीप चौरसिया ने कहा कि दो एकड़ में 80 किलो स्क्रङ्ख-4282 किस्म का बीज लगाया है। फिलहाल फसल ठीक है। बालियाँ तो अच्छी है। उत्पादन के बारे में तो फसल कटने के बाद में ही पता चलेगा।

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles