रबी कृषक संगोष्ठी सह प्रदर्शनी का आयोजन

Share On :

organizing-rabi-farmers-seminar-co-exhibition

रायसेन। नीति आयोग भारत सरकार द्वारा चयनित आकांक्षी जिला विदिशा में कृषि विज्ञान केन्द्र, रायसेन व किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग, विदिशा द्वारा एक दिवसीय रबी संगोष्ठी 8 फरवरी, को ग्राम- इमलिया में आयोजित की गई।

कार्यक्रम में श्री एम.एस. सिद्दीकी, डिप्टी परियोजना संचालक आत्मा, विदिशा, श्री पी.के. मिश्रा, सहायक संचालक उद्यानिकी विदिशा, श्री प्रताप सिंह शाक्य, सहायक कृषि यंत्री, विदिशा व डॉ. स्वप्निल दुबे, वरिष्ठ वैज्ञानिक व प्रमुख, कृषि विज्ञान केन्द्र, रायसेन प्रमुख रूप से उपस्थित थे। इस संगोष्ठी में कृषि विज्ञान केन्द्र, रायसेन के वैज्ञानिक श्री प्रदीप कुमार द्विवेदी, श्री रंजीत सिंह राघव, डॉ. अंशुमान गुप्ता, श्री सुनील केथवास व बी.टी.एम. आशा उपाध्याय, ए.टी.एम. श्री नरेन्द्र रघुवंशी भी उपस्थित थे।

डॉ. स्वप्निल दुबे ने बताया कि कृषकों की आय दोगुनी करने हेतु समन्वित कृषि प्रणाली अन्तर्गत फसल उत्पादन, सब्जी, फल-फूल, पशुपालन, मधुमक्खी पालन, मशरूम उत्पादन आदि पद्धतियों को अपनाना होगा।

श्री पी.के. मिश्रा, सहायक संचालक उद्यानिकी ने कहा कि विदिशा जिले में फल बगीचा आम, अमरूद व अनार के उत्पादन की अपार सम्भावनाएं हंै साथ ही नेट हाऊस, पॉली हाऊस में ऑफ सीजन फसलों की खेती करके अधिक उत्पादन लिया जा सकता है। संगोष्ठी में सागर जिले से आये श्री के.के. दुबे, उन्नतशील कृषक द्वारा ऑयस्टर मशरूम के नमूनों व तकनीक का प्रदर्शन कर मशरूम उत्पादन की तकनीकी जानकारी कृषकों को दी गई।

इस संगोष्ठी में ग्राम इमलिया, धोलाखेड़ी, जोहद, कागपुर, हिनौतिया, नंदुपुरा, राजोदा, ककरावदा आदि ग्रामों के लगभग 170 कृषकों ने भाग लिया।

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles