कचरा बना कमाई का जरिया

Share On :

garbage-earning

इंदौर। प्रधानमंत्री का स्वच्छता अभियान अब हर गांव और शहर में जारी है। लोगों को  स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से मांगलिया की श्रमिक बस्ती में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के फील्ड आउटरिच ब्यूरो द्वारा गत दिनों स्वच्छता ही सेवा विषय पर आयोजित विशेष प्रचार कार्यक्रम  में वक्ताओं ने  गीले कचरे से खाद और सीएनजी गैस  बनाने, सूखे कचरे को रिसाइकिल कर उपयोग करने से रोजगार के नए अवसर पैदा होने की जानकारी भी दी।

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि मांगलिया की सरपंच श्रीमती दीपशिखा अवस्थी ने कहा कि स्वच्छता केवल सरकारी विभागों की ही नहीं, बल्कि हर नागरिक की जिम्मेदारी है। आपने मांगलिया  को पॉलीथिन और डिस्पोजल मुक्त बनाने की अपील की। सांसद प्रतिनिधि श्री चंद्रप्रकाश जायसवाल ने गंदगी से होने वाली बीमारियों के खर्च को स्वच्छता से बचाने के साथ ही कचरे से बनी जैविक खाद से जैविक खेती को बढ़ावा मिलने की बात कही। फील्ड आउटरिच ब्यूरो के सहायक निदेशक श्री मधुकर पवार ने गीले -सूखे कचरे, जैव अपशिष्ट और ई- वेस्ट की जानकारी दी। स्वच्छता प्रश्नोत्तरी के विजेताओं को अतिथियों द्वारा पुरस्कृत किया गया। महिलाओं ने पॉलीथिन को नहीं जलाने और डिस्पोजल का उपयोग नहीं करने की भी शपथ ली। आरम्भ में श्रीनगर में आतंकवादी हमले में शहीद हुए सी.आर.पी.एफ. के जवानों को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके पर सरपंच प्रतिनिधि श्री रामप्रकाश अवस्थी और नगर सुरक्षा समिति के पदाधिकारी भी मौजूद थे। संचालन विवेकानंद महामंडल के अध्यक्ष श्री रविशंकर भाटिया ने किया। आभार क्षेत्रीय प्रचार सहायक श्री किशोर गाठिया ने माना।
 

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles