पारिजात का कृषि उत्पादकता वृद्धि के लिए जागरुकता अभियान

Share On :

awareness-campaign-for-the-increase-in-agricultural-productivity-of-parijat

नई दिल्ली। कृषि पद्धतियों से संबंधित तकनीकी जानकारी के प्रसार, किसानों को प्रशिक्षण प्रदान करने और फसल की पैदावार और सुरक्षित कृषि उत्पादकता में सुधार में उनकी सहायता के लिए कृषि विज्ञान केंद्र के सहयोग से पारिजात उद्योग ने एक प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया। हरियाणा में अंबाला जिले के फतेहगढ़ में किसानों की आय दोगुनी करने की रणनीति के अन्र्तगत कार्यक्रम कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक डॉ. नवीन सैनी के मार्गदर्शन में किया गया। अभियान का उददेश्य किसानों के बीच विभिन्न तकनीकों के बारे में जागरूकता पैदा करना था, जो किसानों की आय बढ़ाने के साथ-साथ पशुधन और जैविक खेती और एकीकृत कृषि प्रथाओं की भूमिका के लिए नियोजित किया जा सकता है।

डॉ. सैनी ने कहा कि किसान केवीके द्वारा अनुशंसित नई तकनीकों को अपनाकर अपने खेत की आय को दोगुना कर सकते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि यदि कृषि और संबंधित क्षेत्रों में उचित और समय पर हस्तक्षेप किया जाता है, तो किसान आय दोगुनी हो सकती है। इस कार्यक्रम में, किसानों द्वारा कई प्रश्न भी उठाए गए और केवीके वैज्ञानिक द्वारा उत्तर दिये गये।

पारिजात के प्रतिनिधियों ने छिड़काव के समय किसानों को फसल सुरक्षा उत्पादों के उपयोग और व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों (पीपीई) के उपयोग के महत्व पर भी प्रशिक्षण दिया। पारिजात ने किसानों को पॉकेट साइज की सुरक्षा पुस्तिका भी वितरित की। पारिजात ने किसानों द्वारा कीटनाशकों के सुरक्षित उपयोग के लिए एक तैयार संदर्भ के रूप में विशेष पॉकेट साइज सुरक्षा पुस्तिकाएं नौ महत्वपूर्ण भारतीय भाषाओं में प्रकाशित की हैं और ये देश भर में किसानों को मुफ्त में व्यापक रूप से वितरित की जाती है।
 

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles