फर्जी ऋण प्रकरणों की सूक्ष्म जांच करें : श्री कमलनाथ

Share On :

micro-investigation-of-fake-loan-cases-shri-kamal-nath

मुख्यमंत्री ने की जय किसान फसल ऋण माफी योजना की समीक्षा 

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने जय किसान फसल ऋण माफी योजना में पात्र प्रत्येक किसान का ऋण माफ करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि जिन किसानों के नाम पर फर्जी तरीके से ऋण निकाला गया है, वे बगैर किसी भय के सामने आयें, सरकार उन्हें न्याय दिलायेगी और दोषियों को दंडित करेगी। श्री नाथ मंत्रालय में फसल ऋण माफी योजना की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में सहकारिता एवं सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह, किसान-कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री सचिन यादव, मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहन्ती एवं वित्त, कृषि और सहकारिता विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने कहा कि फसल ऋण माफी योजना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में शामिल है। उन्होंने कहा कि योजना का लाभ हर उस किसान को मिलना चाहिए, जो योजना की परिधि में शामिल हैं। उन्होंने किसानों के नाम पर फर्जी तरीके से ऋण निकालने के प्रकरणों पर नाराजी व्यक्त की।

उन्होंने बैठक में निर्देश दिए कि फर्जी ऋण प्रकरणों को गंभीरता से लें और इसकी सूक्ष्म जांच कराएं। ऋण माफी की यह प्रक्रिया 22 फरवरी तक पूरी हो जायेगी और किसानों के खाते में राशि पहुँचना शुरू हो जायेगी। योजना में लघु एव सीमांत किसानों के ऋण प्राथमिकता से माफ किये जायेंगे।
 

50 लाख से अधिक आवेदन जमा

प्रदेश में जय किसान फसल ऋण माफी योजना में अब तक 50 लाख 40 हजार 861 पात्र किसानों द्वारा आवेदन जमा किये गये हैं।  आवेदन की अंतिम तिथि पाँच फरवरी तक हरे ऋण खाते के 29 लाख 61 हजार 84 में से 26 लाख 23 हजार 423 आवेदन, सफेद ऋण खाते के 26 लाख 628 में से 19 लाख 20 हजार 505 आवेदन तथा चार लाख 96 हजार 933 गुलाबी आवेदन, इस प्रकार 50 लाख 40 हजार 861 आवेदन प्राप्त हुए हैं। प्रदेश में कुल 55 लाख 61 हजार 712 ऋण खाते हैं। 

 

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles