दमोह की प्रगतिशील महिला किसान विद्यावती

Share On :

progressive-women-farmer-achievement

महिला किसानों की उपलब्धियां

भोपाल से लगभग 300 किलोमीटर दूर, बुंदेलखंड क्षेत्र के सागर संभाग का एक छोटा जिला है दमोह। इतिहास प्रसिद्ध राजा नल की पत्नी दमयंती के नाम पर बसा दमोह, एक ऐतिहासिक महत्व का शहर है। दमोह शहर, चारों ओर से पहाडिय़ां तथा जंगल से घिरा हुआ है। इस जिले की एक तहसील है बटियागढ़ और इसका गांव है घनश्याम पुरा। 

लगभग 250 हेक्टेयर क्षेत्रफल के इस गांव में 50 किसान परिवार हैं। गांव के पास एक छोटी सी बरसाती नदी और जंगल का क्षेत्र है। पीली मिट्टी की हल्की भूमि के कारण भले ही खेत बहुत उपजाऊ नहीं है, लेकिन अपने परिश्रम और खेती के कौशल के कारण किसान पर्याप्त उत्पादन कर पाते हैं। विद्यारानी लोधी के पास लगभग 30 एकड़ भूमि है। वह इस पर परम्परागत फसलें लेती हैं। दूसरे किसानों की तरह ही वह भी गेहूं, चना, मूंग, उड़द, सोयाबीन उगाती हैं। लेकिन अपनी खेती को तकनीकी रूप से बेहतर बनाकर और कम लागत में अधिक उत्पादन लेने के लिये ये हमेशा तत्पर रहती हैं।  इन्होंने रसायनिक खादों में कमी लाने के लिये जैविक खादों को बढ़ावा देने का प्रयास किया है। इनके खेतों में गोबर की खाद, बायोगैस स्लरी, वर्मी कम्पोस्ट का उपयोग खाद के रूप में किया जाता है। इसके लिये गोबर की पूर्ति घर के पशुओं से ही हो जाती है। खेती के काम में जितनी अधिक लागत बचाई जा सके, उतना ही लाभ बढ़ता है। इससे मिट्टी की संरचना भी अच्छी बनी रहती है। लेकिन विद्यारानी जी का जो प्रयोग उन्हें प्रसिद्धी की ओर ले गया, वह है रतालू की खेती। यहां की मिट्टी की दशा के कारण रतालू की खेती की ओर किसान का ध्यान गया। कृषि विज्ञान केन्द्र दमोह के वैज्ञानिकों के निरन्तर सम्पर्क में रहने और उनके प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भाग लेने से यह विचार मिला तो उन्होंने इस नवीन खेती के प्रयोग का निर्णय लिया। विद्यारानी लोधी की सफलता, नये प्रयोगों के प्रति सजग रहने वाले किसानों को प्रोत्साहित करेगी। इस महिला किसान के उदाहरण से समझा जा सकता है कि किसानों को एक ही तरह की खेती न करके फसलों में, सहायक कृषि कार्यों में और खेती के तरीकों में बदलाव लाना चाहिये। यह खेती के जोखिम को कम करने और आमदनी के वैकल्पिक स्त्रोत के रूप में अब महत्वपूर्ण आवश्यकता बन चुके हैं।

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles