भुक्तभोगी किसान

Share On :

भुक्तभोगी-किसान

किसान समाज, अर्थव्यवस्था और राजनीति के केन्द्र में है। आत्महत्यायें,आन्दोलन, गोलीबारी ,राजनैतिक आरोप प्रत्यारोप । किसी ने उस भ्रष्टाचार का जिक्र नहीं किया जो ऋण लेते समय बैंक में, सब्सिडी ,खाद,बीज के लिए सरकारी दफ्तरों में औऱ फसल बेचते समय मंडी में किसान भुगतता है। और किसी दल या संगठन ने इस दिशा में कभी कोई कदम नहीं उठाया है।
– अरविन्द चतुर्वेदी रिटायर्ड अपर संचालक जनसंपर्क मप्र

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles