5 लाख अस्थायी कृषि पम्प कनेक्शन स्थायी होंगे

www.krishakjagat.org
Share

भोपाल। मुख्यमंत्री स्थायी कृषि पम्प कनेक्शन योजना में आगामी जून 2019 तक साढ़े 5 लाख अस्थायी पम्प कनेक्शनों को स्थायी पम्प कनेक्शन में बदला जाएगा। अब तक एक लाख 7 हजार अस्थायी पम्प कनेक्शनों को स्थायी में परिवर्तित किया जा चुका है। इस योजना पर 4 हजार 97 करोड़ रूपए व्यय किए जाएंगे। दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना में ग्रामीणी विद्युतीकरण के लिए 2 हजार 773 करोड़ रूपए व्यय किए जाएंगे। यह जानकारी मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा की गयी ऊर्जा विभाग की समीक्षा बैठक में दी गई। बैठक में ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन उपस्थित थे।
दस वितरण ट्रांसफार्मर टेस्टिंग लैब बनेंगे
गुणवत्ता सुधार के लिए दस वितरण ट्रांसफार्मर टेस्टिंग लैब  बनेंगे। मीटर रीडिंग और बिलिंग की नई व्यवस्था बनायी जाएगी।
रबी के दौरान औसत 10 हजार 900 मेगावॉट विद्युत प्रदाय की गयी है। विद्युत वितरण कम्पनियों में समान स्पेसिफिकेशन की सामग्री खरीदी जाएगी। प्रदेश में 5 हजार 886 विद्युत फीडरों का सेपरेशन कार्य पूरा हो गया है। शेष 820 फीडर सेपरेशन का कार्य आगामी जून 2018 तक पूरा होगा।
प्रदेश में बीते 13 वर्ष में विद्युत वितरण क्षमता 4 हजार 805 मेगावॉट से बढ़कर 15 हजार 100 मेगावॉट हो गयी है। इसी तरह विद्युत वितरण में हानि 7.9 प्रतिशत से कम होकर 2.8 प्रतिशत हो गयी है।

www.krishakjagat.org
Share
Share