5वें कृषि कर्मण अवॉर्ड के लिये फिर दावा ठोकेगा मध्यप्रदेश

www.krishakjagat.org
Share

(विशेष प्रतिनिधि)
भोपाल। कृषि के क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धियों के साथ पिछले चार साल से भारत सरकार का प्रतिष्ठित कृषि कर्मण अवार्ड प्राप्त करने वाले मध्यप्रदेश को वर्ष 2015-16 के लिये भी शार्ट लिस्ट किया गया है। केन्द्रीय कृषि मंत्रालय द्वारा मध्यप्रदेश शासन को यह जानकारी देते हुए 14 मार्च 2017 को नई दिल्ली में स्क्रीनिंग कमेटी के सामने प्रेजेंटेशन के लिये बुलाया गया है। कमेटी के समक्ष प्रस्तुतिकरण होगा। नई दिल्ली में प्रस्तुतिकरण म.प्र. के प्रमुख सचिव कृषि डॉ. राजेश राजौरा देंगे। इस मौके पर संचालक कृषि सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहेंगे। प्रेजेंटेशन में वर्ष 2015-16 में खाद्यान्न, तिलहन उत्पादन और कृषि विभाग द्वारा इन उपलब्धियों के लिये अपनायी गई रणनीति एवं उपायों को भी प्रस्तुत किया जायेगा। प्रेजेंटेशन में ऊर्जा, सिंचाई, खाद्य इत्यादि से जुड़े विभागों के बीच समन्वय के लिये किये गये उपायों पर भी जानकारी देने को कहा गया है।
उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश को चार वर्ष से लगातार कृषि कर्मण अवार्ड मिल रहा है। यह पुरस्कार समग्र खाद्यान्न उत्पादन तथा किसी एक फसल जैसे धान, गेहूं, दलहन, मोटे अनाज एवं तिलहन के बेहतर उत्पादन पर दिया जाता है।  ज्ञातव्य है कि मध्यप्रदेश ने बीते कुछ वर्षों में ऊँची कृषि विकास दर हासिल कर देश में पहला मुकाम हासिल किया है। मौसम की विपरीत परिस्थितियों के बावजूद बेहतर उत्पादन किसानों की मेहनत का परिणाम है। शार्ट लिस्ट किये जाने वाले राज्यों में आन्ध्रप्रदेश, तमिलनाडु,        पश्चिम बंगाल, मध्यप्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, त्रिपुरा, मिजोरम, मेघालय, आसाम एवं बिहार शामिल हंै।

www.krishakjagat.org
Share
Share