किसानों को 45 करोड़ 40 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि वितरित

सागर कृषि दर्पण एप शुरू

सागर। मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजनान्तर्गत जिले के 27436 किसानों को 45 करोड़ 40 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि वितरित की गई। जिला स्तरीय किसान सम्मेलन एवं प्रोत्साहन राशि प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रम सागर कृषि उपज मंडी प्रांगण पर आयोजित किया गया। उल्लेखनीय है कि सागर में आयोजित राज्य स्तरीय किसान सम्मेलन को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने संबोधित किया जिसका एलईडी के माध्यम से उपस्थित किसानों ने लाभ लिया। समारोह के मुख्य अतिथि पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव थे।
पंचायत मंत्री श्री भार्गव ने कहा कि प्रदेश मुख्यमंत्री का लक्ष्य है कि प्रदेश के किसान मजबूत बने। कमजोर किसानों का सहारा बनना ही प्रदेश के मुखिया का लक्ष्य है। कृषकों के लिए जो पूरे देश में नहीं हुआ वो मध्यप्रदेश सरकार ने कर दिखाया। आज प्रदेश के किसानों को समृद्ध करने के लिये 0 प्रतिशत पर ऋण दिया जा रहा है जो देश के अन्य प्रदेशों में नहीं दिया जाता।
उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री श्री चौहान के कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दूरदर्शन के साथ ही प्रादेशिक टीवी चैनल, सभी एफएम चैनल तथा सोशल मीडिया पर भी किया गया। इस अवसर पर मंच से ही पांच किसानों को पिछले साल की गेहूं की फसल पर 200 रु. प्रति क्विंटल की दर से लाभ वितरण के प्रमाणपत्र प्रदान किये गए।

इस अवसर पर सागर कृषि दर्पण एप की शुरूआत पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने की। इसके माध्यम से किसान कृषि योजना, फसल पद्धतियां, कृषक समस्याएं एवं विभागीय अधिकारी अपनी समस्याएं, शिकायतों को अधिकारियों तक पहुंचा सकते हैं। यह एप उप संचालक कृषि सागर श्री ए.के. नेमा द्वारा बनाया गया है।
मोबाईल एप की सुविधाएं

  • इसमें खेती संबंधी सभी उन्नत जानकारी हैं।
  • कृषि विभाग द्वारा चलाई जा रही योजनाएं एवं निर्देश।
  • सागर संभाग के सभी किसानों की समस्याएं इंद्राज कर सीधे संयुक्त संचालक कृषि के कम्प्यूटर पर भेजी जा सकती है।
  • संभाग के सभी अधिकारी कर्मचारी विभागीय समस्याओं को भेज सकते हैं।
  • किसानों के लिये उपयोगी वेबसाईट की लिंक दी गई हैं। जिससे जानकारी प्राप्त की जा सकती है।
  • संभाग के सभी जिलों के ग्रा.कृ.विस्तार अधिकारियों जिला तथा अनुभाग स्तर के वरिष्ठ अधिकारियों के मोबाईल नं. उपलब्ध हैं। जिनसे सीधे संपर्क किया जा सकता है।

www.krishakjagat.org
Share