स्व-सहायता समूहों द्वारा दिया गया जैविक कृषि का प्रशिक्षण

www.krishakjagat.org
Share

पन्ना।  पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग अंतर्गत दीनदयाल अंत्योदय योजना राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन एवं कृषि विभाग के समन्वय से ग्राम दहलानचौकी में एक प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें कृषि विभाग से सहायक संचालक कृषि एल.एल. धान्या, आत्मा परियोजना से राम रिछारिया, बी.टी.एम. नरेन्द्र मोहन तिवारी, मध्य प्रदेश डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन से जिला परियोजना प्रबंधक डी.के. पाण्डेय, विकासखण्ड मिशन प्रबंधक विवेक कुमार मिश्रा एवं सुश्री रश्मि पाण्डेय, मास्टर ट्रेनर परमेश्वरी दयाल एवं रामकुमार कुशवाहा उपस्थित रहे। कार्यशाला में स्व-सहायता समूह की महिलाओं को जैविक कृषि के महत्व के बारे में जानकारी दी गई साथ ही बताया गया कि रसायनिक खाद से भूमि की उर्वराशक्ति कम होती जा रही है। प्रशिक्षण कार्यशाला में वर्मी कम्पोस्ट के लाभ एवं नाडेप बनाने के बारे में भी विस्तार से समझाया गया। जिला परियोजना प्रबंधक द्वारा वनोत्पाद से भी आजीविका गतिविधि बढ़ाने की बात कही गई।

www.krishakjagat.org
Share
Share