सहकारी समितियाँ भी करेंगी साँची दुग्ध उत्पाद का विक्रय

भोपाल। प्रदेश के अधिक लोगों को साँची दुग्ध उत्पाद सुगमता से उपलब्ध करवाने के लिये स्टेट को-ऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन ने प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों, उपभोक्ता भण्डारों और विपणन समितियों के माध्यम से भी दुग्ध उत्पाद और सुदाना विक्रय का निर्णय लिया है। इसके लिये एमपीसीडीएफ, सहकारिता विभाग एवं पंजीयक सहकारी संस्थाओं के बीच अनुबंध होगा। अब तक साँची ब्रॉण्ड के दूध एवं दूध उत्पादों का विक्रय पूरे प्रदेश में लगभग 6,500 विक्रय-केन्द्र द्वारा किया जाता था।
साँची के दुग्ध उत्पाद जैसे- घी, दूध, दुग्ध चूर्ण, मीठा सुगंधित दूध, मिल्क केक, रसगुल्ला, गुलाब जामुन के साथ अब डेयरी फेडरेशन द्वारा निर्मित सुदाना ब्रॉण्ड का पशु आहार भी कृषि साख सहकारी समिति, उपभोक्ता भण्डार और विपणन समितियों द्वारा विक्रय किया जायेगा।
प्रदेश में भोपाल, इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर, जबलपुर एवं सागर दुग्ध संघ द्वारा दुग्ध समितियों के 2 लाख 30 हजार सदस्यों से प्रतिदिन 10 लाख लीटर दूध का संकलन किया जाता है। संकलित दूध में से     7 लाख 60 हजार लीटर दूध साँची ब्रॉण्ड में पैक कर शहरी एवं ग्रामीण उपभोक्ताओं को उचित दर पर उपलब्ध करवाया जा रहा है।

www.krishakjagat.org
Share