समस्या – पपीता अक्टूबर में लगाया था जैविक खाद का उपयोग किया था पौधों की बढ़वार अच्छी नहीं हो रही है और पत्तियों में पीलापन आ रहा है उपाय बतलाये।

– तुलाराम नरवरिया, उज्जैन
समाधान- आपसे दूरभाष पर चर्चा हुई थी आप केवल जैविक उत्पादन का प्रयोग करके खेती करते हैं यह बात अनुकरणीय है। जहां तक बढ़वार का प्रश्न है गिरते तापमान का तो असर होगा ही। पौधों का रखरखाव भी करना पड़ता है। आप निम्न उपचार करें।

  • अच्छी पकी हुई गोबर खाद 10 किलो/पौध पौधों के चारों ओर सक्रिय जड़ों के पास थाला बना कर बिखेरें।
  • पत्तियों पर पीलापन खतरनाक लक्षण है यह कहीं वाईरस का आक्रमण तो नहीं है वाईरस पौधों में सफेद मक्खी के कारण आता है। सफेद मक्खी की सक्रियता पर नजर रखें अन्यथा बीमारी बढ़ जायेगी।
  • जैविक कीटनाशक स्वयं बनाकर उपयोग करें 1 किलो तम्बाकू के पत्ते, 500 ग्राम नीम का तेल, 25 ग्राम कपड़े धोने का साबुन। तंबाकू के पत्तों को 5 लीटर पानी में 3 दिन तक भिगोकर रखें, निचोड़ कर घोल में 500 ग्राम नीम तेल डालें तथा 25 ग्राम साबुन मिलायें। 500 लीटर पानी में 15 लीटर घोल बनाकर छिड़काव करें।

www.krishakjagat.org
Share