समस्या- गेहूं पर पत्तियों में धब्बे आते हैं। गेरुआ और इन धब्बों को अंतरवर्तीय से पहचाना जाये, नियंत्रण के उपाय भी बतायें।

– सूरज प्रसाद, बीना
समाधान- वर्तमान में गेहूं की पत्तियों पर आमतौर पर भूरे धब्बे का रोग आता है जो बीजारूढ़ है। वर्तमान में हुई वर्षा के असर से गेरुआ रोग भी आ सकता है। भूरा धब्बा रोग में पत्तियों पर आये धब्बों को हाथ लगाने से किसी प्रकार का चूर्ण हाथ में नहीं आता है। परन्तु गेरुआ के धब्बों को दबाने से ‘रोरी’ हाथ में आ जाती है जिसे सरलता से पहचाना जा सकता है। दोनों बीमारियों से पत्तियों से पौधों को मिलने वाला भोजन बनने की मात्रा पर असर होता है और दाना भरने की अवस्था पर अधिक असर होता है। रोग दिखने के तुरन्त बाद निम्न छिड़काव करें-

  •  डायथेन एम 45 दो ग्राम दवा प्रति लीटर पानी में घोल बनाकर 15 दिनों के अंतर से दो छिड़काव करें।
  •  छिड़काव विशेषकर स्थानीय किस्मों, डब्ल्यूएच 147 तथा लोक-1 जातियों पर अवश्य करें।

www.krishakjagat.org
Share