मिट्टी की सेहत जांचेगी मिनी लैब

www.krishakjagat.org

जबलपुर। प्रधानमंत्री स्वाईल हेल्थ कॉर्ड योजना के सफल क्रियान्वयन हेतु जिले के प्रत्येक विकासखण्ड के प्रत्येक कृषक को मृदा स्वास्थ्य पत्रक प्रदाय करने हेतु मास्टर ट्रेनर्स का प्रशिक्षण कृषि विज्ञान केन्द्र जबलपुर में आयोजित किया गया।
उप संचालक कृषि डॉ. आनंद मोहन शर्मा से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रशिक्षण में मृदा परीक्षक मशीन द्वारा मृदा के 12 पैरामीटर जैसे पी.एच., विद्युत चालकता, कार्बनिक मैटर, नाइट्रोजन, फास्फोरस, पोटाश, जिंक सल्फर, बोरान, आयरन, कॉपर, मैगनीज, तत्वों की जांच कर मृदा नमूनों का विश्लेषण करने का मौखिक एवं प्रायोगिक प्रशिक्षण दिया गया। प्रधानमंत्री स्वाईल हेल्थ कार्ड योजना में सभी विकासखण्डों में 2-2 मृदा परीक्षक मशीन की स्थापना अर्थात् कुल 14 मृदा परीक्षक मशीन (मिनी लैब) की स्थापना जिले में की गयी है।
जिले में मिट्टी परीक्षण का कार्य मिट्टी परीक्षण लैब जबलपुर, मिट्टी परीक्षण लैब कृषि विज्ञान केन्द्र जबलपुर एवं मुख्य रूप से विकासखण्डों में स्थापित मिनी लैब द्वारा तीन महीने में करीब 45 हजार नमूनों का परीक्षण कर लगभग 1 लाख 50 हजार कृषकों को मृदा स्वास्थ्य पत्रक उपलब्ध कराये जायेंगे।
प्रशिक्षण में मिट्टी परीक्षण लैब से श्री मुकेश वर्मा मृदा परीक्षण अधिकारी, श्री एस.के. जैन सहायक संचालक (जिला नोडल अधिकारी मृदा स्वास्थ्य पत्रक) एवं सभी विकासखण्डों के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी, ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, बी.टी.एम., ए.टी.एम. उपस्थित रहे।.

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share