मछलियों के ऊपर मुर्गी पालें

www.krishakjagat.org

समन्वित कृषि प्रणाली

ओवरहेड मुर्गीपालन

शिवपुरी। विगत दिनों शिवपुरी भ्रमण पर आये भा.कृ.अनु.प.-केन्द्रीय कृषिवानिकी अनुसंधान केन्द्र झांसी के तीन सदस्य वैज्ञानिक दल द्वारा कृषि विज्ञान केन्द्र शिवपुरी का अवलोकन किया तथा केन्द्र द्वारा समन्वित कृषि प्रणाली अंतर्गत विकसित किये जा रहे ओवर हेड मुर्गीपालन शेड मॉडल एवं अन्य गतिविधियों इत्यादि का निरीक्षण भी किया।
इस अवसर पर दल के प्रभारी डॉ. रामनेवाज प्रधान वैज्ञानिक केन्द्रीय कृषि वानिकी अनुसंधान केन्द्र झांसी द्वारा शिवपुरी जिले के लिये कृषि वानिकी मॉडलों पर शुष्क क्षेत्र अनुकूल बेर, बेल, लसोड़ा के साथ तथा अन्य क्षेत्रों में आम, अनार, अमरूद तथा नींबू इत्यादि फलवृक्षों के साथ किसानों की बहुउपयोगिता जैसे पशुओं हेतु चारा, ईधन, इमारती काष्ठ, औषधियां अनुरूप खेती के साथ वृक्षों का समावेश खेतों में, मेढों पर तथा आवश्यकतानुसार किये जाने का परामर्श देते हुये भूमि सुधार में मददगार कृषि वानिकी अनुकूल तकनीकियों पर भी विस्तार से बतलाया। डॉ. आशाराम वैज्ञानिक (सस्य) केन्द्रीय कृषिवानिकी अनुसंधान केन्द्र झांसी द्वारा कृषिवानिकी को समय की मांग बतलाते हुये वृक्षों के बीच फसलों के कम उत्पादन की समस्या के लिये सुझाव देते हुये छाया प्रिय फसलों हल्दी, अदरक, टमाटर इत्यादि फसलों के लिये जाने का सुझाव दिया। डॉ. धीरज कुमार वैज्ञानिक (मृदा विज्ञान) केन्द्रीय कृषि वानिकी अनुसंधान केन्द्र झांसी द्वारा कृषि वानिकी में मृदा नमूना लेने का तरीका तथा भूमि सुधार के मददगार कृषिवानिकी के बारे में जानकारी दी।

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share