फन्दा प्रक्षेत्र बनेगा बड़ा बीज अनुसंधान केन्द्र : श्री बिसेन

www.krishakjagat.org
Share

भोपाल। फन्दा कृषि प्रक्षेत्र प्रदेश का बड़ा बीज अनुसंधान केन्द्र बनेगा। इसमें अधिक उत्पादन वाली किस्में विकसित कर किसानों को विक्रय की जायेंगी। मौसम की बदलती हुई परिस्थिति को देखते हुए बीजों की प्रजाति विकसित की जायेगी। प्रदेश के किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन ने यह बात फन्दा शासकीय कृषि प्रक्षेत्र का आकस्मिक निरीक्षण के दौरान कही। निरीक्षण में बोई गयी नई किस्मों, वर्मी कम्पोस्ट, गौ-शाला आदि के विषय में जानकारी प्राप्त की।
श्री बिसेन ने वर्मी कम्पोस्ट के अधिक से अधिक उपयोग के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इस फार्म को सुव्यवस्थित बनाने के लिये कार्य-योजना बनायें। कार्यालय भवन एवं गोदाम में साफ.-सफाई का ध्यान रखें। श्री बिसेन ने फार्म पर लगी सोलर लाइट की सराहना करते हुए प्रक्षेत्र में फसल चक्रानुसार बोनी किये जाने की बात कही। फंदा प्रक्षेत्र का रकबा 56 हेक्टेयर है, जिसमें 50 हेक्टेयर में रबी की फसल ली जाती है। इस वर्ष 25 एकड़ में खरीफ की फसल बोई गयी हैं। पानी की कमी को देखते हुए यहाँ 4 नलकूप के खनन का प्रस्ताव है। इस प्रक्षेत्र से भोपाल, सीहोर, विदिशा, देवास आदि जिले के कृषकों को उन्नत तकनीक की जानकारी के साथ-साथ आदान सामग्री एवं जैविक खाद मिलने में आसानी होती है।

www.krishakjagat.org
Share
Share