प्रदेश में रबी बोनी 1 करोड़ हेक्टेयर से अधिक

भोपाल। प्रदेश में अनुकूल मौसम के चलते रबी फसलों की बुवाई 1 करोड़ हेक्टेयर से अधिक रकबे में कर ली गई है। इसमें सरसों एवं चने की बोनी लक्ष्य से अधिक क्षेत्र में हुई है तथा गेहूं की बुवाई 50 लाख हेक्टेयर क्षेत्र को पार कर गई है। प्रदेश में रबी फसलों का सामान्य क्षेत्र 101.74 लाख हेक्टेयर है। इस वर्ष 117.16 लाख हेक्टेयर में रबी फसलें लेने का लक्ष्य रखा गया है। इसके विरूद्ध  अब तक 105.69 लाख हे. में बोनी की गई है जो लक्ष्य के विरूद्ध 90 फीसदी है। गत वर्ष इस अवधि में 92.78 लाख हेक्टेयर में बोनी हुई थी।
जानकारी के मुताबिक राज्य में अब तक गेहूं की बोनी 52.18 लाख हेक्टेयर में कर ली गई है अब केवल पिछेती किस्मों की बुवाई की जा रही है। गत वर्ष इस समय तक 46.44 लाख हेक्टेयर में गेहूं की बुवाई हुई थी। वहीं चने की बुवाई निर्धारित रकबे से अधिक क्षेत्र में की गई है। चने की बोनी अब तक 31.85 लाख हेक्टेयर में हो गई है जबकि गत वर्ष अब तक 26.80 लाख हेक्टेयर में चना  बोया गया था।
राज्य में बोई गई अन्य प्रमुख फसलों में जौ 1.25 लाख हे. में, मटर 4.80, मसूर 5.53, सरसों 6.96 लाख हेक्टेयर में तथा गन्ना 84 हजार हेक्टेयर में बोया गया है।
प्रदेश में अब तक खाद्यान्न फसलें 53.44 लाख हेक्टेयर में बोई गई हंै जबकि गत वर्ष अब तक 47.46 लाख हेक्टेयर में बोनी की गई थी। इसी प्रकार दलहनी फसलें अब तक 42.86 लाख हेक्टेयर में एवं तिलहनी फसलें 8.55 लाख हेक्टेयर में बोई गई हैं। जबकि गत वर्ष इस समय तक दलहनी फसलें 37.25 लाख हे. में एवं तिलहनी फसलें 7.36 लाख हे. में बोई गई थीं।

www.krishakjagat.org
Share