प्रदेश में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना लागू

(विशेष प्रतिनिधि)

भोपाल। खरीफ 2016 से प्रदेश में लागू की जा रही प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के क्रियान्वयन के लिए राज्य के 51 जिलों को 5 क्लस्टर में विभाजित किया गया है जिसमें बीमा कंपनियां क्रियान्वयन एजेंसी के रूप में कार्य करेगी। खरीफ में ऋणी एवं अऋणी किसानों के लिए अंतिम तिथि 16 अगस्त तथा रबी के लिए अंतिम तिथि 15 जनवरी रखी गई है तथा बीमा की कार्यवाही 15 सितम्बर से शुरू होगी। खरीफ के लिए कार्यवाही चल रही है। इस खरीफ में कर्ज लेने की अंतिम तारीख भी 16 अगस्त रहेगी।
अधिसूचना के मुताबिक खरीफ में धान सिंचित, असिंचित, बाजरा, मक्का, तुअर, सोयाबीन को पटवारी हल्का स्तर पर ज्वार, कोदो-कुटकी, मूंगफली, तिल, कपास को तहसील स्तर पर एवं मूंग, उड़द को जिला स्तर पर पारिभाषित घोषित किया गया है। इसी प्रकार रबी में गेहूं सिंचित, असिंचित, चना, राई-सरसों को पटवारी हल्का स्तर पर, अलसी को तहसील स्तर पर एवं मसूर को जिला स्तर पर पारिभाषित क्षेत्र घोषित किया गया है। यह योजना अधिसूचित क्षेत्र की अधिसूचित फसलों हेतु ऋणी कृषकों के लिए अनिवार्य एवं अऋणी कृषकों के लिए ऐच्छिक है।
ज्ञातव्य है कि खरीफ फसलों के लिए किसानों द्वारा प्रीमियम 2 प्रतिशत, रबी फसलों के लिए 1.5 प्रतिशत एवं कपास के लिए प्रीमियम 5 प्रतिशत या वास्तविक दर जो भी कम हो लागू होगी।
अधिसूचना के मुताबिक प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में इन्दौर, नर्मदापुरम, जबलपुर, रीवा, भोपाल एवं चंबल संभागों के जिलों में ए.आई.सी. ऑफ इंडिया, उज्जैन एवं शहडोल संभागों के जिलों में आई.सी. आई.सी.आई. लोम्बार्ड एवं सागर व ग्वालियर संभागों के जिलों में एच.डी.एफ.सी. इरगो बीमा कंपनी फसल बीमा का कार्य करेगी।

गतिविधि खरीफ रबी
ऋण लेने की अवधि एवं अऋणी किसानों 1 अप्रैल से 16 अगस्त 15 सितम्बर से 15 जनवरी
से प्रस्ताव प्राप्त होने की अंतिम तिथि
किसानों के खातों से प्रीमियम काटने की 1 अप्रैल से 16 अगस्त 15 सितम्बर से 15 जनवरी
अंतिम तिथि
बैंकों से एकजाई घोषणा पत्र/प्रस्ताव बीमा ऋणी हेतु 31 अगस्त ऋणी हेतु 31 जनवरी एवं
कंपनी को प्राप्त होने की अंतिम तिथि एवं अऋणी कृषकों के अऋणी कृषकों के लिए
लिए 22 अगस्त 22 जनवरी
बैंकों द्वारा कृषकों की जानकारी साफ्ट- ऋणी एवं अऋणी ऋणी एवं अऋणी कृषकों
कापी फसल बीमा पोर्टल पर अपलोड कृषकों के लिए के लिये 31 जनवरी
करने की अंतिम तिथि 31 अगस्त
फसल कटाई प्रयोग परिणाम प्राप्त होने 31 जनवरी समस्त 30 जून
की अंतिम तिथि (संबंधित अधीक्षक, फसलों हेतु एवं तुअर
भू-अभिलेख द्वारा शासन की वेबसाइट कपास हेतु 31 मई
पर आंकड़े अपलोड किये जायेंगे)
अंतिम दावा वितरण उपज आंकड़े प्राप्त होने 3 सप्ताह के अंदर

www.krishakjagat.org
Share