प्रदेश भर में 13 अक्टूबर को होगी सिंचाई बैठकें

www.krishakjagat.org
Share

भोपाल। जल-संसाधन, जनंसपर्क तथा संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रत्येक अभियंता अपने कार्य क्षेत्र में नहरों और अन्य सिंचाई माध्यमों से किसानों के खेतों तक पानी पहुँचाना सुनिश्चित करें। डॉ. मिश्रा गत दिनों जल-संसाधन विभाग के अधिकारियों के साथ एक बैठक में सिंचाई परियोजनाओं के कार्यों की समीक्षा कर       रहे थे। बैठक में प्रमुख सचिव जल-संसाधन श्री पंकज अग्रवाल, प्रमुख अभियंता श्री एम.जी. चौबे उपस्थित थे।
डॉ. मिश्रा ने कहा कि श्रेष्ठ कार्यों के लिए अभियंता पुरस्कृत भी किए जायेंगे। पूरे प्रदेश में आगामी 13 अक्टूबर को सिंचाई नहरों के रखरखाव और सिंचाई क्षेत्र में वृद्धि के लिए विशेष बैठकों का आयोजन किया जायेगा। इन बैठकों में जल उपभोक्ता संस्थाएं भी हिस्सा लेंगी। जल उपभोक्ता संथाओं की ओर से कठिनाईयों की जानकारी भी दी जा सकेगी। जिसका निराकरण अभियंता करेंगे। प्रदेश स्तर पर इन बैठकों के होने के बाद 15 अक्टूबर को प्रतिवेदन प्रस्तुत करना होगा। इसके साथ ही आगामी 31 अक्टूबर तक किसानों की सिंचाई संबंधी समस्याओं का निराकरण भी किया जाएगा।
डॉ. मिश्रा ने कहा कि अभियंता क्षेत्र में निरीक्षण करने के बाद नहरों के आखिरी छोर तक पानी पहुँचाना सुनिश्चित करें। डॉ. मिश्रा ने कहा कि नहरों के उचित रखरखाव और अन्य सिंचाई साधनों को दुरूस्त रखने के लिए क्षेत्र के किसानों से सतत संवाद भी रखें।
त्रि-स्तरीय बैठकों में होगी समीक्षा : आगामी 13 अक्टूबर को वृहद परियोजनाओं की बैठक में मुख्य अभियंता, मध्यम परियोजना की बैठकों में अधीक्षण यंत्री और जिला स्तर पर होने वाली लघु सिंचाई योजनाओं की बैठकों में जिला स्तर पर संबंधित कार्यपालन यंत्री उपस्थित रहेंगे।

www.krishakjagat.org
Share
Share