नेफेड का मोबाईल एप लांच

नई दिल्ली। कृषि मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि सहकारिता समितियों के माध्यम से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाया जा सकता है लेकिन इस पर कुछ प्रभावशाली लोगों का दबदबा है जिसके कारण आम लोगों को इसका लाभ नहीं मिल पाता है।
श्री सिंह ने यहां भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ मर्यादित (नेफेड) के एक मोबाइल ऐप और उसकी पांच फ्लेवर वाली चाय की बिक्री के लिए आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि सहकारिता समितियां ग्रामीण क्षेत्र में अमीरों और गरीबों के बीच की खाई को पाट सकती हैं लेकिन कुछ प्रभावशाली लोगों के इसके हर काम में दखल देने के कारण ऐसा नहीं हो पाता है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में तीन लाख सहकारी समितियां हैं लेकिन वहां इस पर कुछ प्रभावशाली लोगों का बोलबाला है जिसके कारण आम लोगों को सहकारिता का लाभ नहीं मिल पाता है तथा गरीबी और अमीरी के बीच की खाई यथावत बनी हुयी है। उन्होंने कहा कि सहकारिता नेतृत्व को विशेष लोगों को लाभ देने के बजाय आम लोगों के आर्थिक विकास के बारे में सोचना चाहिये।
कृषि मंत्री ने कहा कि सहकारी समितियों को कुशल मानव संसाधन विकसित करना चाहिये और इसके लिए उसे युवाओं को प्रशिक्षित करने का कार्यक्रम चलाना चाहिये । इस क्षेत्र को कागज पर काम करने के बजाय जमीन पर काम करना चाहिये।

www.krishakjagat.org
Share