नहरों का निरीक्षण करें अधिकारी : डॉ. मिश्रा

www.krishakjagat.org

भोपाल। रबी सिंचाई 2016-17 के लिए जल उपभोक्ता संस्थाओं के अध्यक्षों और सक्षम अधिकारियों की प्रदेश स्तर पर विशेष बैठकें आयोजित की गईं। इन बैठकों में आगामी रबी सिंचाई के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए रूप रेखा तय की गई और नहरों के संचालन की बाधाओं और उन्हें दूर किए जाने के लिए आवश्यक कार्यों को चिन्हित किया गया। इन बैठकों का विस्तृत ब्यौरा संकलित कर शासन स्तर से भी आवश्यक कदम उठाये जाएंगे।
जल संसाधन मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा के निर्देशानुसार समस्त विभागीय अधिकारी नहरों का अवलोकन करेंगे। नहरों के आवश्यक कार्यों के लिए संबंधित यंत्री प्राक्कलन तैयार करेंगे। कार्यपालन यंत्री द्वारा इन्हें प्रमुख अभियंता कार्यालय को प्रेषित किया जाएगा। जल उपभोक्ता संस्थाओं को उपलब्ध करवाई गई राशि से नहरों के जो सुधार कार्यपूर्ण हो सकते हैं, उनको तत्काल प्रारंभ किया जाएगा। यह सभी कार्य इसी माह पूर्ण करने के निर्देश भी दिए गए हैं ताकि किसानों को रबी सिंचाई के लिए सुचारू रूप से पानी उपलब्ध करवाया जा सके।
बैठकों के क्रम में मैदानी अधिकारियों ने अपने कार्य क्षेत्र में बैठकें करवाईं। जिला पंचायत हरदा के सभा गृह में जिला जल उपयोगिता समिति की बैठक में जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री ने बताया कि हरदा जिले में तवा बाँयी मुख्य नहर प्रणाली से रबी सिंचाई के लिए तवा बाँध से 28 अक्टूबर को पानी छोड़ा जाएगा ताकि जिले की नहरों में एक नवंबर से सिंचाई के लिए जल-प्रवाह उपलब्ध हो सके। माचक उप नहर से सिंचाई लक्ष्य को देखते हुए हरदा जिले को तवा बाँयी मुख्य नहर की चेन क्र. 3008 पर निरंतर आवश्यक जल-प्रवाह उपलब्ध करवाया जाएगा। इस वर्ष हरदा जिले में तवा बाँयी मुख्य नहर प्रणाली से (हंडिया शाखा नहर सहित) 100632 हेक्टेयर तथा खिरकिया विकास खंड में निर्मित 3 लघु सिंचाई तालाब से 2775 हेक्टेयर इस प्रकार कुल 103407 हेक्टेयर क्षेत्र में रबी सिंचाई का लक्ष्य रखा गया है। सीधी में जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री ने बताया कि जल उपभोक्ता संस्थाओं की बैठक में जल उपभोक्ता संस्था के समस्त अध्यक्ष, अनुविभागीय अधिकारी, उप यंत्री बैठक में उपस्थित हुए। मध्यम परियोजना के अनुविभागीय अधिकारी, प्राधिकृत अधिकारी एवं अध्यक्षों के साथ अधीक्षण यंत्री की अध्यक्षता में बैठक मण्डल कार्यालय पडऱा में हुई।
छिंदवाड़ा में बैठक में जिले के जलाशयों में जलभराव क्षमता के अनुरूप रबी सिंचाई के लक्ष्य निर्धारण के संबंध में विचार-विमर्श किया गया। बैठक में विधायक पं.रमेश दुबे और श्री सोहनलाल वाल्मीक, समिति के सचिव, कार्यपालन यंत्री जल संसाधन और संबंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share