नवाचार – किसान की आमदनी दुगनी मुनगे के साथ हल्दी बोनस में

www.krishakjagat.org
Share

किसानों की आय 5 वर्षों में दोगुनी करने के लक्ष्य को हासिल करने नरसिंहपुर जिले के ग्राम-करताज, सिंहपुर, लोकीपार, जल्लापुर एवं जोबा के लगभग 30 युवा किसानों ने समूह बनाकर लगभग 150 एकड़ में मुनगा (ड्रमस्टिक) की खेती ड्रिप विधि से प्रारंभ की है। किसानों द्वारा लाईन से लाईन 10 फिट एवं पौधे से पौधे की दूरी 5 फिट की दूरी पर ड्रिप विधि द्वारा  लगाये गये हैं, साथ ही बीच में हल्दी की दो लाईन अंतरवर्तीय फसल के रूप में ली गई है, जिससे अतिरिक्त आमदनी मिलेगी। अकेले करताज ग्राम में 100 एकड़ में मुनगे की इस प्रकार उन्नत विधि से खेती की गई है। मुनगा मुख्यत: उद्यानिकी फसल है, जिसका फल,फूल, पत्तियाँ उपयोग में आती हैं। वर्ष में 150-200 क्विंटल प्रति एकड़ उपज संभावित प्राप्त होती है। इस प्रकार प्रति एकड़ 1.50 से 2.00 लाख रुपये का शुद्ध लाभ प्राप्त किया जा सकता है।
ग्राम  करताज में कलेक्टर नरसिंहपुर डॉ. आर.आर.भोसले द्वारा जिले की कृषि अधिकारियों की टीम के साथ गत 10 अक्टूबर 2016 को कृषक श्री मनोज शर्मा, श्री विमलेश दुबे एवं श्री सौरभ शंकर दुबे के फील्ड का अवलोकन किया।
उपसंचालक कृषि श्री जितेन्द्र सिंह ने बताया कि इन मुनगा उत्पादक कृषक समूह का आत्मा योजना में माँ नर्मदा मुनगा उत्पादक कृषक समूह के रूप में पंजीयन कर उन किसानों को नवाचार द्वारा मधुमक्खी पालन हेतु किट उपलब्ध कराकर मुनगे की उपज में 25 प्रतिशत की वृद्धि तथा शहद द्वारा अतिरिक्त आय दिलाने हेतु प्रयास किये जा रहे हैं।
चित्र में उप संचालक पशुचिकित्सा सेवायें डा. के.के. द्विवेदी, कार्यक्रम समन्वयक डॉ. आशुतोष शर्मा, मिट्टी परीक्षण अधिकारी डॉ. आर.एन. पटेल, प्रभारी सहायक संचालक उद्यान श्री राय, एटीएम रूचि शर्मा, श्री आर.एन.एस. रघुवंशी, श्री पटैल, ग्राकृविअ एवं मैदानी अमला तथा प्रगतिशील कृषक श्री सी.एस. तिवारी, श्री मनोज शर्मा, श्री विमलेश दुबे, श्री सौरभ शंकर दुबे, श्री राकेश दुबे आदि किसान उपस्थित रहे। अधिक जानकारी के लिये कृषि उपसंचालक श्री जितेन्द्र सिंह मो.-9425153450 पर सम्पर्क करें।

www.krishakjagat.org
Share

One thought on “नवाचार – किसान की आमदनी दुगनी मुनगे के साथ हल्दी बोनस में

  • October 18, 2016 at 9:03 PM
    Permalink

    Muse haldi ki kheti ke bare jankari chaye

Comments are closed.

Share