दलहनी बीजों की उपार्जन एवं विक्रय दरें तय

www.krishakjagat.org

(विशेष प्रतिनिधि)
भोपाल। राज्य शासन कृषि विभाग ने प्रदेश में खरीफ वर्ष 2016 के लिए दलहनी फसलों के प्रमाणित बीजों की उपार्जन, विक्रय एवं अनुदान दरें जारी कर दी हैं। यह निर्णय कृषि उत्पादन आयुक्त की अध्यक्षता में गत दिनों हुई बैठक में लिया गया। बैठक में निर्णय लिया गया कि खरीफ दलहनी फसलें जिसकी अवधि 10 वर्ष तक की है उस पर बीज उत्पादन अनुदान भारत सरकार द्वारा निर्धारित दरों के अनुसार दिया जाएगा, जिसे उपसंचालक कृषि द्वारा सीधे किसान के खाते में जमा किया जाएगा।
जानकारी के मुताबिक किसान को मूंग की समस्त किस्मों का बीज 10600 रु. प्रति क्विंटल, उड़द की समस्त किस्मों का बीज 13000 रुपये एवं अरहर की समस्त किस्मों का बीज 11500 रुपये प्रति क्विंटल मिलेगा।
निर्णय के अनुसार कृषकों के लिए मूंग बीजों की उपार्जन दर 8500 रु., उड़द बीजों की 11000 रुपये एवं अरहर बीजों की 9500 रुपये प्रति क्विंटल तय की गई है। इसी प्रकार दलहनी फसलों में कृषकों को 2500 रुपये अनुदान दिया जाएगा।
ज्ञातव्य है कि पूर्व में राज्य शासन ने खरीफ बीजों की उपार्जन, विक्रय एवं अनुदान दरें तय की थीं, उसमें दलहनी फसलों के बीज की दरें शामिल नहीं थीं। अब इसकी दरें तय कर दी गई हैं।

फसल कृषकों के लिए संस्था की सकल बीज वितरण
उपार्जन दरें विक्रय दर तथा अनुदान की दर
(बोनस सहित) कृषकों को प्राप्त जो सीधे कृषकों
होने वाले बीज के खाते में
की अंतिम दर जमा की जाएगी
मूंग (समस्त किस्में) 8500/- 10600/- 2500/-
उड़द (समस्त किस्में) 11000/- 13000/- 2500/-
अरहर (समस्त किस्में) 9500/- 11500/- 2500/-
FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share