तेजी से आगे बढ़ता ट्रैक्टर – सोनालीका

www.krishakjagat.org
Share

भारत की तीसरी सबसे बड़ी ट्रैक्टर निर्माता कम्पनी सोनालीका

नई दिल्ली। देश की तीसरी सबसे बड़ी ट्रैक्टर निर्माता कंपनी सोनालीका इंटरनेशनल ट्रैक्टर्स लिमिटेड विकास की राह पर काफी तेजी से आगे बढ़ रही है। 20 एचपी से लेकर 110 एचपी तक की श्रेणी में प्रौद्योगिकी के लिहाज से ट्रैक्टरों की उत्कृष्ट रेंज पेश करने वाली कंपनी घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में व्यापक विस्तार योजनाओं के साथ अग्रणी ट्रैक्टर ब्रांड बनने की ओर अग्रसर है।
कृषि उत्पादकता बढ़ाने और किसानों को सशक्त बनाने की भारत की कोशिशों में सोनालीका आईटीएल की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है। बाजार हिस्सेदारी में 50 फीसदी की वृद्धि के साथ कंपनी पिछले 4 साल के दौरान भारतीय ट्रैक्टर बाजार में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 12 फीसदी करने में सफल रही है। कंपनी हरियाणा और हिमाचल प्रदेश में शीर्ष ट्रैक्टर ब्रांड है जबकि जम्मू-कश्मीर, पंजाब, छत्तीसगढ़, झारखंड, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, असम और ओडिशा में शीर्ष 3 ट्रैक्टर ब्रांडों में से एक है। आईटीएल के उत्पाद 100 से भी अधिक देशों में बिक्री के लिए उपलब्ध हैं और घरेलू व अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में यह एक सम्मानित ब्रांड बन चुका है। सोनालीका इंटरनेशल ट्रैक्टर्स लिमिटेड के कार्यकारी निदेशक श्री रमन मित्तल ने कहा, ‘हमारे ग्राहक केन्द्रित नजरिए की वजह से हमारा ध्यान किसानों को हमेशा ही ऐसे इनोवेटिव सॉल्यूशंस/उत्पाद उपलब्ध कराने पर रहा है, जो उनकी कृषि उत्पादकता में बढ़ोत्तरी करने में मददगार साबित हों। देश की 3 शीर्ष ट्रैक्टर निर्माता कंपनियों में शामिल होना हमारे लिए बहुत गर्व की बात है। हमने महज 2 दशक की छोटी सी अवधि में यह सफलता हासिल की है और यह सब हमारे डीलरों, किसानों, आपूर्तिकर्ताओं और कर्मचारियों की मेहनत की वजह से ही मुमकिन हो सका है। हमारे ग्राहकों का हम पर निरंतर विश्वास ही है, जिसने हमें देश में सबसे तेजी से विकास कर रही ट्रैक्टर निर्माता कंपनी बनाया है।
पंजाब के होशियारपुर जिले में सोनालीका आईटीएल का अत्याधुनिक एकीकृत ट्रैक्टर निर्माण सोनालीका वल्र्ड प्लांट है। इस संयंत्र की वार्षिक उत्पादन क्षमता करीब 2 लाख ट्रैक्टर है और इसका रोल आउट टाइम करीब 2 मिनट है। यह विश्वस्तरीय एकीकृत संयंत्र इंजन से लेकर असेंबलिंग तक की सभी सुविधाएं एक ही छत के नीचे उपलब्ध कराता है। यह संयंत्र शीट प्लास्टिक्स, शीट मेटल्स, ट्रांसमिशन और इंजन से लेकर पूरे ट्रैक्टर तक के निर्माण के लिये पूरी तरह सज्ज है। भारत में ट्रैक्टर उद्योग के लिये बेस और टॉप कोट के लिए रोबोटिक पेंट फैसिलिटी भी सबसे पहले सोनालिका आईटीएल ने ही शुरू की है।
यह नया संयंत्र लगातार तेजी से बढ़ रही ट्रैक्टरों की मांग को पूरा करेगा और विश्व भर में ट्रैक्टरों की आपूर्ति में लगने वाले समय को कम करेगा और साथ ही उत्कृष्ट गुणवत्ता मानकों को भी बरकरार रखेगा। इसके आरएंडडी केंद्र में बेहद कुशल और अनुभवी कर्मचारी कार्यरत हैं, जिन्होंने 20 एचपी से लेकर 110 एचपी तक के उत्पाद प्लेटफॉर्म विकसित किए हैं, जिससे घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय बाजारों की जरूरतों को पूरा किया जा सके।
सोनालीका आईटीएल की वैश्विक स्तर पर भी अच्छी मौजूदगी है और इससे हमें दुनिया भर के 100 से भी अधिक देशों में 6 लाख ग्राहकों का भरोसा जीतने में मदद मिली है। कंपनी ने रूस और सीआईएस देशों में कदम रखने की महत्वाकांक्षी योजना बनाई है और इसके साथ ही कंपनी यूरोपीय व गैर-यूरोपीय देशों में भी अपनी मौजूदगी बढ़ाने की दिशा में काम कर रही है।
वर्ष 1996 में स्थापना से लेकर अभी तक सोनालीका आईटीएल ने देश की तीसरी सबसे बड़ी ट्रैक्टर निर्माता कंपनी बनने के लिये लंबा सफर तय किया है। सोनालीका आईटीएल ने वैश्विक स्तर पर सफलता हासिल की है और इस सफलता की वजह है किसानों की सेवा करने और उनका जीवन आसान बनाने की प्रतिबद्धता। ग्राहक केंद्रित नजरिए की मदद से सोनालीका आईटीएल विश्वस्तरीय उत्पाद विकसित करती है। कंपनी कृषि समुदाय की सभी जरूरतों को पूरा करती है और उन्हें ऐसे मॉल्यूशंस उपलब्ध कराती है, जो उन्हें ज्यादा कमाने और ज्यादा बचत करने में मदद करें।

www.krishakjagat.org
Share
Share