जैविक पाठशाला नैगवां में सम्पन्न

www.krishakjagat.org

कटनी । जिस प्रकार केन्द्र सरकार गैस सिलेन्डर में अनुदान का पैसा सीधे उपभोक्ता के खाते में जमा करती है। इसी तरह किसानों को भी खाद में मिलने वाले अनुदान को सीधे खाते में जमा करने की योजना चल रही है। इसकी जानकारी जैविक पाठशाला नैगवां में कंपनियों द्वारा आयोजित जैविक कृषि पाठशाला में दी गई। पाठशाला में जिले के खाद विक्रेता, कृषि एवं सहकारी समितियों के कर्मचारियों ने भाग लिया। जैविक कृषि पाठशाला के अधिकारी एवं क्षेत्र के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी रामसुख दुबे ने बताया कि शासन किसानों को जैविक खेती अपनाने के लिए निरंतर प्रयास कर रहा है। आपने कम लागत में अधिक उत्पादन प्राप्त करने के लिए जैविक खादों एवं कीटनाशक दवाओं को बनाने एवं फसलों में उपयोग करने का तरीका बताया। प्रत्येक मंगलवार को लगने वाली जैविक कृषि पाठशाला में अधिक से अधिक किसानों को भेजने की सलाह दी। पाठशाला में बन रही केंचुआ खाद, जैविक कीटनाशक एवं विभिन्न उन्नत कृषि यंत्रों का अवलोकन कराया गया। बैठक में वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी श्री ए.के. गर्ग सहित कृषक बन्धु भी उपस्थित थे।

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share