जीआई वेल्डमेश फेंसिंग से खेत सुरक्षित

www.krishakjagat.org

इंदौर। अफीम के खेतों में अब किसानों ने पुरानी पद्धति की फेन्सिंग (बाढ़) को छोड़कर अधिक सुरक्षित व कम लागत वाली जीआई वेल्ड मेश फेंसिंग को अपनाना शुरू कर दिया है। कम्पनी के श्री हिमांशू आनन्द तिवारी ने इसकी विशेषता बताते हुए कहा कि ये चेन से हल्की होती है और चेनलिंक की अपेक्षा प्रति किलो लंबाई भी अधिक होती है। इसके 6 फीट के 4X4 गाला के बंडल का वजन 35 किलो होता है, जिसकी लंबाई 100 फीट होती है और वहीं चेन लिंक का वजन 48 किलो होता है जिसमें लंबाई 100 फीट ही निकलती है। एचडी वायर के जीआई वेल्ड मेश मजबूत, जंगरोधक हैं। इसे इस्तेमाल के बाद आसानी से मोड़कर बंडल भी बनाया जा सकता है। नीमच जिले ग्वाल देवीया के किसान श्री रमेश पाटीदार और मंदसौर के सोनीयाना गांव के श्री हरीशंकर चौहान ने अपने खेत पर इसका सफल उपयोग किया है। जिससे इनकी अफीम की खेती अधिक सुरक्षित हो गयी है।

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share