जिला शाजापुर वैज्ञानिकों ने बताये उन्नत खेती के तरीके

www.krishakjagat.org
Share

शाजापुर। कृषि विस्तार सुधार कार्यक्रम आत्मा अंतर्गत म.प्र. किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग की पी.पी. पार्टनर संस्था के.जे. एजुकेशन सोसायटी भोपाल ने खरीफ 2016 में जिले के मोहन बड़ोदिया विकासखंड के ग्राम पलसावद में फार्म स्कूल, समूह दक्षता निर्माण, पचौर में आवासीय अध्ययन, कालापीपल के ग्राम खातीखेड़ी में फार्म स्कूल समूह क्षमता विकास, अरण्डिया में आवासीय अध्ययन दोनों विकासखंड के एक-एक ग्राम में प्रगतिशील कृषक फसल प्रदर्शन, सामग्री वितरित की गई। जिले के अंदर भ्रमण कृषि विज्ञान केन्द्र गिरवर फार्म में कराया गया। फार्म स्कूल समूह क्षमता विकास, आवासीय अध्ययन में केन्द्र के वैज्ञानिक डॉ. ए.के. मिश्रा, डॉ. एस.एस.धाकड़, डॉ. एन.एस. खेडकर एवं जिले के अंदर भ्रमण कार्यक्रम में वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं केन्द्र के प्रभारी डॉ. जी.आर. अम्बावतिया ने कृषकों को उन्नत बीज किस्म मिट्टी परीक्षण, बीजोपचार, संतुलित बीज मात्रा, संतुलित उर्वरकों का उपयोग, जैविक खेती, फसल चक्र, अन्तरवर्तीय फसल पद्धति, कीट नियंत्रण इत्यादि महत्वपूर्ण विषयों पर जानकारी दी। इसी प्रकार जिले के बाहर अध्ययन कृषि विज्ञान केन्द्र उज्जैन में कराया गया। अध्ययन उपरांत कृषकों को केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं कार्यक्रम समन्वयक डॉ. ए.के. दीक्षित ने आगामी रबी सीजन से संबंधित गेहूं की उन्नत बीज प्रजाति पूसा मंगल, पूसा अनमोल, पोषण, जीडब्ल्यू 322, जीडब्ल्यू 273, जीडब्ल्यू 1544, संतुलित उर्वरकों का उपयोग, पानी की मात्रा, बीज दर बोनी के लिए उचित समय इत्यादि विषयों पर जानकारी दी गई एवं कृषकों को अपनी खेती में अनेक सुधार के तरीके भी बताये गये। सभी गतिविधियों में विकासखंड कालापीपल, मोहन बड़ोदिया के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी श्री योगेन्द्र उपाध्याय, श्री एच.एन. खत्री, श्री पी.के. जैन, श्री कैलाश नारायण सोनी एवं सोसायटी के जिला समन्वयक श्रवण मीणा,  चैनलाल चौरे उपस्थित थे।

www.krishakjagat.org
Share
Share