गेहूं खरीदी के लिए पंजीयन कराएं : कलेक्टर

www.krishakjagat.org
Share

पन्ना। सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत संचालित दुकानों से खाद्यान्न एवं कैरोसिन का वितरण किया जाता है। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में कलेक्टर श्री जे.पी. आईरीन सिंथिया ने खाद्यान्न वितरण की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि आपूर्ति अधिकारी दुकानों का नियमित रूप से निरीक्षण करें। हितग्राहियों को पात्रता के अनुसार हर माह खाद्यान्न एवं कैरोसिन उपलब्ध कराएं। राजस्व अधिकारियों के साथ मिलकर उचित मूल्य दुकानों की जांच करे। इनमें अनियमितता पाए जाने पर प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही करें। सभी पेट्रोल पम्पों तथा गैसे एजेन्सियों का हर माह निरीक्षण करके प्रतिवेदन प्रस्तुत करें।
कलेक्टर ने कहा कि समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के लिए 14 फरवरी तक किसानों का पंजीयन किया जाना है। गत वर्ष 25 हजार 114 किसानों ने पंजीयन कराया था। पंजीयन 14 जनवरी से आरंभ हुआ है लेकिन अब तक मात्र 2096 किसानों ने ही पंजीयन कराया है जो गत वर्ष की तुलना में बहुत कम है। सभी पात्र किसानों का गेहूं खरीदी के लिए अनिवार्य रूप से पंजीयन कराएं। पंजीयन न होने पर उन्हें खरीदी का लाभ नहीं मिलेगा। प्रत्येक ग्राम पंचायत में जाकर तथा खरीदी केन्द्रों के माध्यम से किसानों को पंजीयन की जानकारी दें।
    कलेक्टर ने कहा कि समग्र पोर्टल के सभी हितग्राहियों का शत प्रतिशत आधार सीडिंग कराए। उचित मूल्य दुकानदारों के माध्यम से हितग्राहियों के आधार संख्या की जानकारी प्राप्त कर उसे ऑनलाईन दर्ज कराए। सभी सहायक आपूर्ति अधिकारियो को शत प्रतिशत आधार सीडिंग कराने पर ही फरवरी माह का वेतन मिलेगा। कलेक्टर ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत पात्र परिवारों के आवेदन पत्र तथा दस्तावेज गैस एजेन्सियों में जमा कराए। पात्र हितग्राहियों को गैस कनेक्शन का वितरण कराना सुनिश्चित करें। बैठक में कलेक्टर ने खाद्यान्न आवंटन उठाव तथा वितरण की समीक्षा की। उन्होंने समर्थन मूल्य पर खरीदे गए धान के तत्काल उचित भण्डारण के निर्देश दिए। बैठक में जिला आपूर्ति अधिकारी बी.आर. डोंगरे, महाप्रबंधक सहकारी बैंक अमित श्रीवास्तव तथा सभी कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी उपस्थित रहे।

www.krishakjagat.org
Share
Share